NDTV Khabar

जब मनमोहन सिंह बोले- मैं एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर ही नहीं, एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी था

देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंगलवार को कहा कि वह सिर्फ भारत के एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर ही नहीं थे, बल्कि देश के एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
जब मनमोहन सिंह बोले- मैं एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर ही नहीं, एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी था

मनमोहन सिंह (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मनमोहन सिंह ने पीएम मोदी पर भी निशाना साधा.
  2. मनमोहन सिंह ने कहा कि हमने संकट को अवसर का रूप दिया.
  3. उन्होंने कहा कि वह एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी थे.
नई दिल्ली:

देश के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह (Manmohan Singh) ने मंगलवार को कहा कि वह सिर्फ भारत के एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर ही नहीं, थे, बल्कि देश के एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी थे. दरअसल, मंगलवार को दिल्ली में अपनी पुस्तक 'चेंजिंग इंडिया' के लॉन्च के बाद उन्होंने कहा कि 'मुझे देश के एक्सीडेंटल प्रधानमंत्री के रूप में जाना जाता है, लेकिन मुझे लगता है कि मैं एक एक्सीडेंटल वित्त मंत्री भी था.'

मनमोहन सिंह ने कसा PM मोदी पर तंज, बोले-मैं ऐसा प्रधानमंत्री नहीं था जो मीडिया से बात करने में डरता हो

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मौजूदा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना भी साधा. उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी पर मीडिया से बात न करने के आरोप लगाते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के रूप में उन्हें प्रेस से बात करने में कभी डर नहीं लगा. मैं ऐसा प्रधानमंत्री नहीं था जो प्रेस से बात करने में डरता हो. मैं लगातार प्रेस से मिलता रहता था और हर विदेश यात्रा के बाद प्रेस कांफ्रेंस करता था.' 


'मूक प्रधानमंत्री' कहे जाने पर पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने यह दिया जवाब

बता दें कि उन्होंने यह बात इसलिए कही कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने अबतक के कार्यकाल में कभी संवाददाता सम्मेलन आयोजित नहीं किया है. उल्लेखनीय है कि मनमोहन सिंह विदेश भी जाते थे तो विमान में पत्रकारों से बातचीत करते हुए जाते और आते थे. अखबारों में खबर के साथ छपता था-'प्रधानमंत्री के विशेष विमान से'. मई, 2014 के बाद से यह परंपरा बिल्कुल बंद है. 

राजस्थान : शपथ समारोह में विपक्ष एकजुट, लेकिन अखिलेश और मायावती नदारद; जानिए- क्या हैं इसके मायने

मनमोहन सिंह ने आगे कहा कि जब वह 1991 में भारत के वित्त मंत्री थे, तो वह अपनी मदद से संकट को "महान अवसर" में बदलने में सफल रहे. उन्होंने कहा कि जीवन एक बड़ा एडवेंचर और जोखिम भरी रही है, जिसे मैं पसंद करता हूं. मुझे कोई पछतावा नहीं है. मुझे इस देश ने जो दिया है, उसे मैं कभी वापस नहीं कर पाऊंगा. जीवन के कुछ समय काफी स्मूथ रहे हैं और कुछ उतार-चढ़ाव वाले भी. 

आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल का इस्तीफा, अर्थव्यवस्था के लिए बड़े झटके की तरह है : मनमोहन सिंह

टिप्पणियां

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने कहा, "लोग कहते हैं कि मैं एक मौन प्रधानमंत्री था, लेकिन यह किताब उन्हें इसका जवाब देगी. मैं प्रधानमंत्री के रूप में अपनी उपलब्धियों का बखान नहीं करना चाहता, लेकिन जो चीजें हुई हैं, वे पांच खंडों की इस पुस्तक में मौजूद हैं." मनमोहन का बयान ऐसे समय में आया है, जब इसके पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री के अबतक के कार्यकाल के दौरान एक भी संवाददाता सम्मेलन आयोजित न करने के लिए मोदी का मजाक उड़ाया है. मनमोहन ने देश के भविष्य के बारे में कहा कि तमाम गड़बड़ियों के बावजूद भारत एक प्रमुख वैश्विक ताकत बनने वाला है.

VIDEO: पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने केंद्र सरकार पर जमकर साधा निशाना


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement