NDTV Khabar

'मन की बात' में बोले PM, अयोध्या पर फैसले के बाद देश नए रास्ते पर चल पड़ा है

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद लोगों द्वारा दिखाई गई परिपक्वता और धैर्य की रविवार को सराहना की.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
'मन की बात' में बोले PM, अयोध्या पर फैसले के बाद देश नए रास्ते पर चल पड़ा है

पीएम नरेंद्र मोदी ने 'मन की बात' के जरिये देशवासियों को संबोधित किया.

नई दिल्ली :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने अयोध्या मामले पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद लोगों द्वारा दिखाई गई परिपक्वता और धैर्य की रविवार को सराहना की. उन्होंने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘मन की बात' (Mann Ki Baat) में कहा कि 130 करोड़ भारतीयों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि राष्ट्रीय हित से बड़ा कुछ भी नहीं होता है. पीएम ने कहा कि अयोध्या मामले पर 9 नवम्बर को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया, तो 130 करोड़ भारतीयों ने फिर ये साबित कर दिया कि उनके लिए देशहित से बढ़कर कुछ नहीं है. देश में, शांति, एकता और सदभावना के मूल्य सर्वोपरि हैं. अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद अब देश नई उम्मीदों, आकांशाओं के साथ नए रास्ते पर, नये इरादे लेकर चल पड़ा है. न्यू इंडिया इसी भावना को अपनाकर शांति,एकता और सदभावना के साथ आगे बढ़े- यही मेरी कामना है, हम सबकी कामना है. 

'मन की बात' में PM मोदी ने किया Ayodhya Case पर HC के फैसले वाले दिन को याद


प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारी भारत भूमि पर सैकड़ों भाषाएं सदियों से पुष्पित पल्लवित होती रही हैं. हालांकि, हमें इस बात की भी चिंता होती है कि कहीं भाषाएं, बोलियां ख़त्म तो नहीं हो जाएगी. पिछले दिनों मुझे उत्तराखंड के धारचुला की कहानी पढ़ने को मिली. मुझे काफी संतोष मिला. पीएम ने कहा कि ख़ास बात ये भी है कि संयुक्त राष्ट्र ने 2019 यानी इस वर्ष को ‘इंटरनेशनल ईयर ऑफ इंडीजिनियस लैंग्वेजेज' घोषित किया है. यानी उन भाषाओँ को संरक्षित करने पर जोर दिया जा रहा है जो विलुप्त होने के कगार पर हैं. 19वीं शताब्दी के आखरी काल में महाकवि सुब्रमण्यम भारती जी ने कहा था, वो हम लोगों के लिए बहुत ही प्रेरक है. ‘भारत माता के 30 करोड़ चेहरे हैं, लेकिन शरीर एक है. यह 18 भाषाएं बोलती हैं, लेकिन सोच एक है.' 

मन की बात में पीएम मोदी ने कहा- युवा देश तबाह ना हो इसलिए ई सिगरेट पर लगाया प्रतिबंध

पीएम ने संविधान दिवस का जिक्र करते हुए कहा कि भारत का संविधान ऐसा है जो प्रत्येक नागरिक के अधिकारों और सम्मान की रक्षा करता है और यह हमारे संविधान निर्माताओं की दूरदर्शिता की वजह से ही सुनिश्चित हो सका है. उन्होंने कहा कि नवम्बर महीने का चौथा रविवार हर साल एनसीसी डे के रूप में मनाया जाता है. मैं भी कैडेट रहा हूं और मन से भी, आज भी अपने आपको कैडेट मानता हूं. दुनिया के सबसे बड़े यूनिफॉर्म्ड यूथ ऑर्गनाइजेशन में भारत की NCC भी एक है. इसमें सेना, नौ-सेना, वायुसेना तीनों शामिल हैं.  

पीएम मोदी ने 'मन की बात कार्यक्रम' में प्लास्टिक के खिलाफ जन-आंदोलन का किया आह्वान

टिप्पणियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में 'फिट इंडिया मूवमेंट' से आप परिचित होंगे. सीबीएसई ने एक सराहनीय पहल की है, फिट इंडिया सप्ताह की. इस सप्ताह में विद्यार्थियों के साथ-साथ उनके शिक्षक और माता-पिता भी भाग ले सकते हैं. पीएम ने कहा कि नमो ऐप पर मध्यप्रदेश से बेटी श्वेता ने लिखा कि अगली 'परीक्षा पर चर्चा' कब होगी. मैं कोशिश करुंगा कि इस बार परीक्षा पर चर्चा जनवरी की शुरुआत में या बीच में हो जाए. मेरे युवा-साथी परीक्षाओं के समय हंसते-खिलखिलाते दिखें, पैरेंट्स तनाव मुक्त, टीचर्स आश्वस्त हों, इसी उद्देश्य को लेकर हम मन की बात के माध्यम से परीक्षा पर चर्चा टाउन हॉल से और एग्जाम वॉरियर बुक के माध्यम से लगातार प्रयास कर रहें हैं. 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... शिवपाल यादव का बड़ा बयान- मुलायम के कहने पर ही बनाई थी अलग पार्टी लेकिन जब वह अखिलेश के साथ हैं तो...

Advertisement