'मन की बात' में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- देश के युवाओं को सही व्यवस्था पसंद, अराजकता से करते हैं नफरत

पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने 'मन की बात' (Mann Ki Baat) में कहा, 'इन दिनों हमारे देश के युवा सही व्यवस्था को पसंद करते हैं, वे सिस्टम को फॉलो करते हैं. युवाओं को अराजकता के प्रति नफरत है.'

'मन की बात' में बोले पीएम नरेंद्र मोदी- देश के युवाओं को सही व्यवस्था पसंद, अराजकता से करते हैं नफरत

Mann Ki Baat : रेडियो के जरिए पीएम मोदी का 60वीं बार देश को संबोधन.

खास बातें

  • 'मन की बात' का 60वां कार्यक्रम
  • देश के युवाओं को PM मोदी का संदेश
  • 'अराजकता से नफरत करते हैं युवा'
नई दिल्ली:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' (Mann Ki Baat) के जरिए देशवासियों को संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने कहा, 'भारत को आधुनिक बनाने में इस पीढ़ी की बहुत बड़ी भागीदारी होने वाली है. मैं साफ अनुभव करता हूं. आने वाली 12 जनवरी को विवेकानंद जयंती पर, जब देश युवा दिवस मना रहा होगा, तब युवा चिंतन करें और इस दशक में संकल्प भी लें. मेरे प्रिय देशवासियों कन्याकुमारी में जिस रॉक पर स्वामी विवेकानंद जी ने अंतर्ध्यान किया था, वहां पर जो विवेकानंद रॉक मेमोरियल बना है, उसके पचास वर्ष पूरे हो रहे हैं. पिछले 5 दशकों में ये स्थान भारत का गौरव रहा है. कन्याकुमारी राष्ट्र और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आकर्षण का केंद्र बना रहा है. राष्ट्र और देशभक्ति से भरे अनुभव को महसूस करने वाले के लिए ये एक तीर्थ क्षेत्र बना हुआ है.'

पीएम नरेंद्र मोदी के रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' की बड़ी बातें...

- पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, 'इन दिनों हमारे देश के युवा सही व्यवस्था को पसंद करते हैं, वे सिस्टम को फॉलो करते हैं. युवाओं को अराजकता के प्रति नफरत है. अव्यवस्था, अराजकता के प्रति उन्हें चिढ़ है. जातिवाद, परिवारवाद जैसी अव्यवस्था को वो पसंद नहीं करते हैं.'

- पीएम मोदी ने कहा, 'हम अलग-अलग कॉलेजों में, यूनिवर्सिटीज़ में और स्कूलों में पढ़ते तो हैं, लेकिन पढ़ने के बाद Alumni meet एक बहुत सुहाना अवसर है. इस अवसर पर सभी नौजवान पुरानी यादों में खो जाते हैं, इसका एक अलग ही आनंद है.'

- पीएम मोदी ने कहा, '2019 की विदाई के पल हमारे समाने हैं. अब हम न सिर्फ नए साल में प्रवेश करेंगे बल्कि नए दशक में प्रवेश करेंगे. इसमें देश के विकास को गति देने में वे लोग सक्रिय भूमिका निभाएंगे, जिनका जन्म 21वीं सदी में हुआ है.'

- पीएम मोदी ने कहा, 'मैंने 15 अगस्त को लाल किले से देशवासियों से एक आग्रह किया था और देशवासियों से लोकल प्रोडक्ट्स खरीदने का आग्रह किया था. आज फिर से मेरा सुझाव है कि क्या हम स्थानीय स्तर पर बने उत्पादों को प्रोत्साहन दे सकते हैं. क्या उन्हें अपनी खरीदारी में स्थान दे सकते हैं.'

- पीएम ने कहा, 'क्या हम संकल्प ले सकते हैं कि 2022 तक जब आजादी के 75 वर्ष पूरे होंगे, इन 2-3 साल हम स्थानीय उत्पाद खरीदने के आग्रही बनें. भारत में बना, जिसमें हमारे देशवासियों के पसीने की महक हो, ऐसी चीजों को खरीदने का हम आग्रह कर सकते हैं क्या.'

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com