''राजनीति में मनोहर पर्रिकर की प्रतिष्ठा दहाड़ते शेर जैसी थी, अब वह 'मिमियानी' बिल्ली हैं''

गोवा कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश चोडांकर ने मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर हमला करते हुए कहा कि गठबंधन के दबाव और मुख्यमंत्री की कुर्सी से प्यार ने उन्हें शेर से मिमियानी बिल्ली बना दिया है.

''राजनीति में मनोहर पर्रिकर की प्रतिष्ठा दहाड़ते शेर जैसी थी, अब वह 'मिमियानी' बिल्ली हैं''

गोवा के मुख्‍यमंत्री मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर की फाइल फोटो

खास बातें

  • कुर्सी से प्यार ने उन्हें शेर से मिमियानी बिल्ली बना दिया है
  • बीजेपी के वरिष्ठ नेता एक कठपुतली की तरह व्यवहार कर रहे हैं
  • बीजेपी के गठबंधन दलों की 'अनुचित मांगों' को पूरा कर रहे हैं.
नई दिल्ली:

गोवा कांग्रेस के अध्यक्ष गिरीश चोडांकर ने मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर पर हमला करते हुए कहा कि गठबंधन के दबाव और मुख्यमंत्री की कुर्सी से प्यार ने उन्हें शेर से मिमियानी बिल्ली बना दिया है. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के वरिष्ठ नेता एक कठपुतली की तरह व्यवहार कर रहे हैं और अपनी कुर्सी बचाने के लिए बीजेपी के गठबंधन दलों की 'अनुचित मांगों' को पूरा कर रहे हैं.

राहुल गांधी पर बीजेपी का निशाना, कहा- वो एक ‘नॉन परफार्मिंग’ कांग्रेस अध्यक्ष हैं

उन्होंने कहा, "एक समय गोवा की राजनीति में पर्रिकर की प्रतिष्ठा दहाड़ते शेर जैसी थी, लेकिन अब वह घटकर बिल्ली के समान हो गई है. मुख्यमंत्री अब गोवा फॉरवर्ड जैसे गठबंधन सहयोगियों की कठपुतली बनकर रह गए हैं जिसके नेता विजय सरदेसाई ने हालिया फॉर्मालिन विवाद के बाद मछली माफिया के पीछे छिपे लोगों को बचाने की कोशिश की है." उन्होंने संवाददाताओं को बताया कि लाखों गोवावासी मछली पसंद करते हैं लेकिन राज्य सरकार ने उनके पसंदीदा भोजन पर खतरे के बादल ला दिए हैं.

2019 में अकेले चुनाव लड़ने की तैयारी करें, अमित शाह ने महाराष्‍ट्र बीजेपी कार्यकर्ताओं से कहा

चोडांकर ने कहा, "एक समय था जब उन्हें टाइगर कहा जाता था, लेकिन वे अब म्याऊं तक नहीं कर रहे. पर्रिकर की स्थिति सोचिए: वे अपनी कुर्सी में फंस गए हैं और अंधे हो गए हैं. वे सिर्फ अपनी कुर्सी बचाने के लिए मछली संरक्षण के लिए उपयोग में लाए जाने वाले फॉर्मालिन के मुद्दे पर कोई भी समझौता करने को तैयार हैं."

अमित शाह से नीतीश कुमार ने की एक केंद्रीय मंत्री की शिकायत, BJP के लिये खींची 'लक्ष्मण रेखा'

राज्य में भाजपा की गठबंधन सरकार मछली व्यापारियों के प्रति नरम रुख अपनाने के कारण निशाने पर है. गोवा में हाल में बाहर से आए मछली के कन्साइनमेंट में खतरनाक फॉर्मालिन पाया गया है. गोवा विधानसभा का मौजूदा मानसून सत्र कांग्रेस द्वारा फॉर्मालिन विवाद की जांच की मांग करने के बाद लगातार दो दिनों तक स्थगित रहा है.
 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com