NDTV Khabar

कुमार विश्वास हैं देशभक्त, केजरीवाल भारत तेरे टुकड़े होंगे नारे लगाने वालों के साथ : मनोज तिवारी

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. अच्छी सलाह देने वालों को ये किनारे कर देते हैं : मनोज
  2. विश्वास हमेशा राष्ट्रभक्त की तरह खड़े रहे हैं
  3. आप के नेताओं में आपसी विश्वास की कमी : विजेंद्र गुप्ता
नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी में विवाद के मद्देनजर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने देर रात कुमार विश्वास से मुलाकात की, लेकिन ऐसा प्रतीत होता है कि इस बैठक का कोई खास परिणाम नहीं निकला. आप विधायकों के एक वर्ग ने आज तड़के विश्वास के साथ एक अलग बैठक की लेकिन इसकी विस्तृत जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है. कुमार विश्वास ने आरोप लगाया था कि अरविंद केजरीवाल को चाटुकारों की मंडली घेरे है और अमानतुल्लाह खान ‘मुखौटा’ हैं और उस मंडली के लिए काम कर रहे हैं. मुख्यमंत्री केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने विश्वास को शांत करने के लिए देर रात गाजियाबाद स्थित विश्वास के आवास पर उनसे मुलाकात की थी.

आम आदमी पार्टी में मचे घमासान को लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बयान दिया है. जो भी आम आदमी पार्टी को सलाह देता है उनको ये लोग साइड लाइन कर देते हैं. कुमार विश्वास ने हमेशा कहा है कि वह देश और जवानों के मुद्दे पर बोलते रहेंगे. वह आम आदमी पार्टी में जरूर हैं, लेकिन वह देश के जवानों के लिए और देश के लिए राष्ट्रभक्त की तरह खड़े रहे हैं. मनोज तिवारी ने आरोप लगाया कि केजरीवाल "भारत तेरे टुकड़े होंगे हजार" नारे लगाने वालों के साथ हैं.

वहीं बीजेपी के नेता विजेंद्र गुप्ता ने कहा कि दो साल पहले ही बनी पार्टी में टूट जारी है. आम आदमी पार्टी में अनुशासन नहीं है. आप के नेताओं को एक-दूसरे पर ही भरोसा नहीं है.आप नेताओं में आपसी अविश्वास बढ़ता ही जा रहा है. 

टिप्पणियां
गौरतलब है कि विश्वास ने सोमवार को पार्टी की राजनीतिक मामलों की समिति (पीएसी) की बैठक में पार्टी नेताओं को मीडिया से बात करने पर परहेज बरतने के फैसले को धता बताते हुए पत्रकारों से औपचारिक बातचीत भी की. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि वह पार्टी की गलतियों को उजागर करते रहेंगे और देशहित में जो भी सही होगा उसे बोलने से नहीं रुकेंगे.

विश्वास ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को आप संयोजक पद से हटाकर उन्हें यह जिम्मेदारी देने की मांग के सवाल पर कहा कि उनके मन में मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री या आप संयोजक बनने की कोई महत्वाकांक्षा नहीं है. पंजाब, गोवा विधानसभा चुनाव और नगर निगम चुनाव में आप के लचर प्रदर्शन को देखते हुए पार्टी के तमाम विधायक केजरीवाल
को पार्टी संयोजक पद से हटाने की पैरोकारी कर रहे हैं. विश्वास ने भावुक होते हुए कहा कि 'मैं यह बात केजरीवाल और सिसोदिया को पहले ही बता चुका हूं कि मेरी ऐसी कोई इच्छा नहीं है. ना ही मैं स्वराज इंडिया या किसी अन्य राजनीतिक दल में शामिल होने जा रहा हूं'. हालांकि उन्होंने यह जरूर कहा कि अमानतुल्ला खान अगर केजरीवाल या सिसोदिया के खिलाफ कुछ भी बोलते तो उन्हें 10 मिनट के भीतर पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया जाता. 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement