NDTV Khabar

मोदी के दौरे के विरोध में माओवादियों ने ओडिशा रेलवे स्टेशन पर किया हमला

206 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोदी के दौरे के विरोध में माओवादियों ने ओडिशा रेलवे स्टेशन पर किया हमला

करीब 30 माओवादियों ने दाइकलू रेलवे स्‍टेशन पर हमला किया.

भुवनेश्वर: माओवादियों ने देर रात ओडिशा के रायगढ़ जिले में एक रेलवे स्टेशन पर हमला बोलते हुए वहां विस्फोट कर दिया और अगले माह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रस्तावित ओडिशा यात्रा के विरोध में पोस्टर भी लगा दिए. पूर्व तटीय रेलवे के प्रमुख जनसंपर्क अधिकारी जेपी मिश्रा ने कहा कि आधी रात के कुछ ही समय बाद संबलपुर मंडल के तहत आने वाले दोइकलू रेलवे स्टेशन पर 15-20 माओवादियों ने हमला बोल दिया. उन्होंने स्टेशन मास्टर के दफ्तर में तोड़फोड़ भी की.

उन्होंने कहा कि माओवादियों ने स्टेशन मास्टर एसके पारिदा को बाहर निकाला और स्टेशन परिसर में विस्फोट कर दिया. पारिदा और कुली गोबिंद हिकाका को कुछ समय के लिए बंदी भी बनाया गया. मिश्रा ने कहा कि हमलावरों ने स्टेशन मास्टर का वॉकी-टॉकी भी छीन लिया था. इसके अलावा उन्होंने स्टेशन से बाहर खड़ी मालगाड़ी के कर्मियों को ईंजन बंद करने पर मजबूर कर दिया था. मौके पर पहुंचे रायगढ़ के पुलिस अधीक्षक के सिवा सुब्रमणि ने कहा कि मालगाड़ी के ईंजन को हल्का नुकसान पहुंचा है.

अधिकारियों ने कहा कि माओवादी अपने पीछे हाथ से लिखे कुछ पोस्टर छोड़ गए हैं, जिन पर केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार और ओडिशा में नवीन पटनायक की सरकार की नीतियों का विरोध किया गया है.सीपीआरओ ने कहा कि इस घटना में किसी रेलकर्मी या स्थानीय व्यक्ति को नुकसान नहीं पहुंचा है. नियंत्रण कक्ष कर्मचारियों से बात कर पा रहा है. रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि रायगढ़ और टिटलागढ़ स्टेशनों के बीच दाइकलू से होकर गुजरने वाली रेल सेवाएं कुछ समय के लिए बाधित हो गई हैं. कई ट्रेनें मुनिगुडा स्टेशन पर खड़ी रहीं.

माओवादियों की ओर से छोड़े गए पोस्टर में हमलावरों ने प्रधानमंत्री की 15 और 16 अप्रैल के लिए प्रस्तावित ओडिशा यात्रा का विरोध किया है. प्रधानमंत्री को भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में हिस्सा लेने के लिए यहां आना है.
उन्होंने कहा कि कुछ पोस्टरों में इस बात का भी विरोध किया गया है कि ओडिशा से बाहर के अधिकारियों को राज्य की पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ पदों पर तैनात किया जा रहा है.

पुलिस महानिदेशक केबी सिंह ने कहा कि सीआरपीएफ और विशेष अभियान दल (एसओजी) के जवानों ने इस घटना के बाद इलाके में खोजी अभियान शुरू कर दिया है. रेलवे के अधिकारियों ने कहा कि मालगाड़ियों की आवाजाही सुरक्षा संबंधी हरी झंडी मिलने के बाद शुरू कर दी गई है. हालांकि इन पर गति संबंधी निर्देश लागू किए गए हैं. एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों की आवाजाही को जल्द ही बहाल करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement