NDTV Khabar

ओडिशा : पुलिस का मुखबीर होने के संदेह में माओवादियों ने एक आदिवासी की हत्या की

पुलिस ने बताया कि मृतक के सिर पर पत्थर और कुछ धारदार हथियार से हमला किया गया था.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
ओडिशा : पुलिस का मुखबीर होने के संदेह में माओवादियों ने एक आदिवासी की हत्या की

फाइल फोटो

मलकानगिरि (ओडिशा): माओवादियों ने ओडिशा के मलकानगिरि जिले के एक दूरदराज गांव में एक आदिवासी व्यक्ति की हत्या पुलिस के मुखबीर होने के शक में कर दी. मलकानगिरि के पुलिस अधीक्षक जगमोहन मीणा ने बताया कि करीब 20 माओवादी कुरुब गांव में शुक्रवार रात घुस आए और दंबारू नायक को उनके घर से बाहर खींचकर ले गए. नायक का शव गांव के बाहरी इलाके के जंगल से बरामद किया गया. पुलिस ने बताया कि मृतक के सिर पर पत्थर और कुछ धारदार हथियार से हमला किया गया था. उन्होंने बताया कि घटनास्थल से हाथ से लिखा एक खत भी बरामद हुआ है. इसमें लिखा था कि नायक की हत्या इसलिए की गई क्योंकि वह इस क्षेत्र में पुलिस के मुखबीर के रूप में काम करता था.

यह भी पढ़ें : झारखंड में नक्सलियों ने पुलिस का खबरी होने के शक में पति-पत्नी की हत्या की

पुलिस ने बताया कि खत में यह भी आरोप लगाया गया है कि नायक माओवादियों की गतिविधियों के बारे में पुलिस को सूचना देता था. उन्होंने बताया कि नायक पहले माओवादियों से सुहानुभूति रखता था और दो साल पहले उसने माओवादियों से संपर्क तोड़कर हिंसा के रास्ते को छोड़ दिया था.

VIDEO : कैसे हल होगी नक्सल समस्या?
ग्रामीणों का कहना है कि माओवादियों ने इससे पहले चेतावनी जारी करते हुए उन लोगों से कहा था कि वह पुलिस को कोई भी सूचना न दें.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement