यह ख़बर 07 नवंबर, 2012 को प्रकाशित हुई थी

पूर्वोत्तर के युवा मुक्केबाजों को तराशना चाहती हैं मैरीकॉम

पूर्वोत्तर के युवा मुक्केबाजों को तराशना चाहती हैं मैरीकॉम

खास बातें

  • चिम्पू में तीसरे पूर्वोत्तर यूथ फेस्टिवल के उद्घाटन समारोह के दौरान मैरीकॉम ने कहा, ‘‘मैं इस क्षेत्र के लिए कुछ करना चाहती हूं और जिसे भी मुक्केबाजी में रुचि है वह मेरी अकादमी से जुड़ सकता है।’’
इटानगर:

ओलिंपिक कांस्य पदक विजेता एमसी मैरीकॉम ने बुधवार को दोहराया कि वह मणिपुर में अपनी अकादमी में उत्तर पूर्व राज्यों के मुक्केबाजों को तराशना चाहती हैं।


चिम्पू में तीसरे उत्तर पूर्व यूथ फेस्टिवल के उद्घाटन समारोह के दौरान मैरीकॉम ने कहा, ‘‘मैं इस क्षेत्र के लिए कुछ करना चाहती हूं और जिसे भी मुक्केबाजी में रुचि है वह मेरी अकादमी से जुड़ सकता है।’’

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


मैरीकॉम ने क्षेत्र के युवाओं से कहा कि वह खेल के क्षेत्र में अपने राज्यों को गौरवान्वित करें। उन्होंने इस दौरान अपना उदाहरण दिया कि कैसे उन्होंने गरीब परिवार का हिस्सा होने के बावजूद ओलिंपिक में पदक जीता। अरुणाचल प्रदेश सरकार ने इस दौरान मैरीकॉम को ओलिंपिक में उनकी उपलब्धि की सराहना के तौर पर 10 लाख रुपये का चैक सौंपा।