मार्कण्डेय काटजू बोले- हिंदी कविता में नहीं है उर्दू जैसा 'दम', कुमार विश्वास ने भड़ककर कहा- बार-बार मुझे टैग करके...

उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू (Markandey Katju) ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा कि आधुनिक हिंदी कविता में उर्दू जैसा नहीं है.

मार्कण्डेय काटजू बोले- हिंदी कविता में नहीं है उर्दू जैसा 'दम', कुमार विश्वास ने भड़ककर कहा- बार-बार मुझे टैग करके...

पूर्व न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू और कुमार विश्वास- (फाइल फोटो)

खास बातें

  • मार्कण्डेय काटजू ने किया ट्वीट
  • हिंदी कविता से की उर्दू से तुलना
  • कुमार विश्वास का आया रिस्पॉन्स
नई दिल्ली:

उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू (Markandey Katju) ने अपने फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा कि आधुनिक हिंदी कविता में उर्दू जैसा 'दम' नहीं है. इसे लेकर मार्कण्डेय काटजू (Markandey Katju) ने अपने ट्विटर अकाउंट पर भी लिखा, जिसमें उन्होंने कुमार विश्वास को भी टैग किया. टैग करने पर कुमार विश्वास काफी भड़क उठे. उन्होंने बार-बार टैग करने के लिए मना किया और ईश्वर से जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की. कुमार विश्वास के भड़कने से पहले सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायमूर्ति मार्कण्डेय काटजू ने आखिर ऐसा क्या लिखा, जिस पर काफी बहस हो गई. इस बारे में जानने के लिए उनके फेसबुक पोस्ट के बारे में जानते हैं.

श्रीलंका के उप रक्षामंत्री का दावा : न्यूजीलैंड के 'क्राइस्टचर्च का बदला' लेने के लिए हुए कोलंबो में बम धमाके

मार्कण्डेय काटजू ने लिखा, ''मैंने अक्सर कहा है कि आधुनिक हिंदी कविता में उर्दू कविताओं जैसा दम नहीं है. हालांकि इस पर समर्थक मुझसे नाराज भी हो चुके हैं, लेकिन जरा इस बार विचार करें. यदि हम 'सरफरोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है' को हिंदी भाषा में परिवर्तित करते हैं तो यह 'शीश कटवाने की इच्छा अब हमारे हृदय में उपस्थित है' हो जाएगा. यह कैसा लग रहा है? क्या इसमें कोई 'दम' है? या फैज की कविता को देखें, 'बोल की लब आजाद हैं तेरे बोल जुबां अब तक तेरी है'. इसे हिंदी में लिखेंगे तो यह 'कहो कि तुम्हारे होंठ स्वतंत्र हैं, कहो कि तुम्हारी जीभ अभी तक तुम्हारी है'.

कभी TV पर राष्ट्रपति का किरदार निभाता था ये कॉमेडियन, आज सच में बन गया President

इस पोस्ट पर काटजू ने जब कुमार विश्वास ने टैग किया तो उन्होंने पलटकर जवाब दिया और लिखा, ''हिंदी-कविता की 'शक्तिमत्ता' से आपके अपरिचित रह जाने के पीछे, मेरा कोई योगदान नहीं है! यह आपके निजी अज्ञान, आत्ममुग्धता व अशिक्षा के कारण है! कृपया बार-बार मुझे 'टैग' करके अपनी अहमन्य-कुंठा की निरर्थक उलूक-ध्वनि न करें! ईश्वर आपको यथाशीघ्र स्वस्थ करे व आपका 'न्याय' करे''. कुमार विश्वास का यह ट्वीट काफी वायरल हो गया.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

Video: राहुल गांधी को सुप्रीम कोर्ट ने दिया आपराधिक अवमानना का नोटिस