स्कूलों में 3 घंटे में 6 बार चक्कर लगाकर भी बच्चा टॉयलेट नहीं जाता क्योंकि : मनीष सिसोदिया

स्कूलों में 3 घंटे में 6 बार चक्कर लगाकर भी बच्चा टॉयलेट नहीं जाता क्योंकि : मनीष सिसोदिया

मनीष सिसोदिया...

खास बातें

  • नगर निगम के स्कूलों को लेकर मनीष सिसोदिया का तंज
  • बीजेपी के स्वच्छता अभियान पर कटाक्ष
  • बच्चों टॉयलेट यूज नहीं कर पाते
नई दिल्ली:

दिल्ली में एमसीडी चुनाव के मतदान की तारीख पास आते ही सभी दलों में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला जारी है. नगर निगम के हालात को लेकर आम आदमी पार्टी लगातार बीजेपी पर निशाना साध रही है. आप का कहना है कि बीजेपी ने अब तक के वादों को पूरा किए बिना ही नए वादे थोप दिए हैं. आप लगातार एमसीडी में बीजेपी के 10 सालों के कामकाज पर सवाल उठाती रही है. अब डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने भी बीजेपी पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी के स्वच्छता अभियान को घेरा है. उन्होंने ट्वीट किया था कि  नगर निगम स्कूलों में तीन घंटे में 6 बार टॉयलेट के चक्कर लगाकर भी बच्चा टॉयलेट नहीं जाता क्योंकि - (बीजेपी के स्वच्छता अभियान का सच)

इसमें उन्होंने एक खबर को भी साथ जोड़ा है, जिसमें एक बच्चा कह रहा है कि मेरी मम्मी प्राइवेट स्कूल की फीस नहीं भर सकती इसलिए उन्होंने मुझे यहां भर्ती कराया है. बच्चे की मां एक कंपनी में हेल्पर के तौर पर काम करती है, जबकि पिता दिहाड़ी मजदूर है. वह तीन घंटे में 6 बार टॉयलेट जाता है, लेकिन टॉयलेट का प्रयोग नहीं करता, क्योंकि सारे टॉयलेट्स में गंदगी पड़ी है. इस ट्वीट के जरिए मनीष सिसोदिया ने सरकारी स्कूलों की हालत को लेकर लताड़ लगाई है. साथ ही स्वच्छता को लेकर कटाक्ष किया है, जिस मुहिम पर पीएम नरेंद्र मोदी खुद नजर रखते हैं. सोमवार को ही उन्होंने गुजरात के सूरत में लोगों की तारीफ करते हुए कहा था कि लोग यहां पीएम मोदी का रोड शो नहीं सफाई देख रहे थे. स्वच्छता से रोग दूर रहते हैं. सूरत स्वच्छता के मामले में मिसाल है.

 

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com