NDTV Khabar

महू : बर्तन साफ करने वाली मां का बेटा पीएम बन पाया, तो उसका श्रेय बाबासाहेब को जाता है...

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महू : बर्तन साफ करने वाली मां का बेटा पीएम बन पाया, तो उसका श्रेय बाबासाहेब को जाता है...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के संविधान निर्माता डॉ. भीमराव आंबेडकर की 125वीं जयंती के अवसर पर मध्यप्रदेश के महू पहुंचे। पीएम मोदी ने वहां आंबेडकर महाकुंभ कार्यक्रम को संबोधित किया। इससे पहले पीएम ने कालीपल्टन क्षेत्र में स्थित आंबेडकर की जन्मस्थली पर निर्मित आंबेडकर स्मारक में उनको पुष्पांजलि अर्पित की। पीएम मोदी ने ‘‘ग्राम उदय से भारत उदय अभियान’’ की शुरुआत भी की।

टिप्पणियां

पीएम मोदी के संबोधन की खास बातें-

  • जिस धरती पर बाबा साहब आंबेडकर का जन्म हुआ उस धरती से आशीर्वाद लेने का मौका मिलना मेरे लिए परम सौभाग्य की बात है।
  • एक ऐसा व्यक्ति जिसकी मां बचपन में बर्तन साफ करती थी, वह बेटा अगर प्रधानमंत्री बन पाया तो उसका क्रेडिट बाबासाहेब को जाता है।
  • मैं पहले भी कई बार यहां आया हूं लेकिन तब में और अब में अंतर है।
  • मैं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को उनके काम के लिए बधाई देता हूं।
  • बाबा साहेब अंबेडकर सिर्फ एक व्यक्ति नहीं थे, वह नैतिकता का पर्याय थे।
  • उन्होंने सामाजिक बुराई के खिलाफ आवाज उठाई।
  • वह एक ऐसे शख्स थे जिनके पास ज्ञान का भंडार था और दुनिया भर के अवसर मौजूद थे, लेकिन वह भारत के उत्पीड़ित वर्ग के लिए कुछ करना चाहते थे।
  • भारत मुट्ठीभर शहरों के विकास के बूते या फिर चंद निवेशकों के भरोसे तरक्की नहीं कर सकता।
  • भारत के विकास के लिए हमें गांवों को आगे ले जाना होगा।
  • इस बार हमारा बजट सौ प्रतिशत गांवों और किसानों को समर्पित है।
  • विकास के सभी सूत्रों को हमें गांव की तरक्की के लिए काम पर लगाना होगा।
  • मैंने अपने अधिकारियों से पूछा कि भारत के कितने गांवों में बिजली नहीं है, कौन है जो अभी भी 18वीं शताब्दी में रह रहे हैं। मुझे लगा कुछ सौ गांव ऐसे होंगे, लेकिन मुझे पता चला कि आज़ादी के 70 साल होने को आए और करीब 18 हजार गांवों में अभी भी पावर नहीं है।

आंबेडकरस्मारक पहुंचने वाले पहले पीएम
डॉ. आंबेडकर की स्मृति में उनकी जन्मस्थली पर वर्ष 2008 में बने भव्य स्मारक पर आने वाले पीएम नरेंद्र मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। महू छावनी कस्बे में 14 अप्रैल 1891 को डॉ आंबेडकर का जन्म हुआ था। प्रदेश सरकार ने उनकी याद में यहां कालीपल्टन क्षेत्र में स्थित उनके जन्मस्थान पर एक भव्य स्मारक बनवाया है।

डॉ. बीआर आंबेडकर सामाजिक विज्ञान विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. आरएस कुरील ने बताया, ‘पीएम मोदी देश के पहले प्रधानमंत्री हैं जो डॉ. आंबेडकर की जन्मस्थली महू आए।’’ आंबेडकर स्मारक में प्रधानमंत्री मोदी ने लगभग 15 मिनट का समय बिताया और उनसे जुड़ी वस्तुओं का अवलोकन किया। इस दौरान उनके साथ मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और स्मारक के अन्य अधिकारी भी थे।
(इनपुट भाषा से भी)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement