दिल्ली-UP बॉर्डर को प्रवासियों मजदूरों से कराया गया खाली, स्क्रीनिंग के बाद बस या ट्रेन से भेजा जाएगा घर

Migrants gathered at Ghazipur: गाजीपुर बॉर्डर को अब खाली करा दिया गया है. मजदूरों को स्क्रीनिंग सेंटर ले जाया जाएगा.

दिल्ली-UP बॉर्डर को प्रवासियों मजदूरों से कराया गया खाली, स्क्रीनिंग के बाद बस या ट्रेन से भेजा जाएगा घर

दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर पहुंचे सैकड़ों प्रवासी मजदूर

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश में दाखिल होने के लिए रविवार सुबह सैकड़ों की संख्या में मजदूर उत्तर-प्रदेश-दिल्ली के बॉर्डर से सटे गाजीपुर (Gazipur Border) पहुंच गए. हालांकि, यूपी पुलिस (UP Police) ने उन्हें रोक दिया. गाजीपुर बॉर्डर को अब खाली करा दिया गया है. मजदूरों को स्क्रीनिंग सेंटर ले जाया जाएगा. मजदूरों को स्क्रीनिंग सेंटर तक पहुंचाने के लिए डीटीसी की बसें लगाई जाएंगी. जांच के बाद उन्हें बस या ट्रेन के जरिए घर भेजा जाएगा. रविवार सुबह करीब 300 लोग सड़क पर आ गए थे. पुलिस ने बाद में सड़कर खुलवाकर इन्हें किनारे बैठा दिया था. 

उत्तर प्रदेश के औरेया (Auraiya Road Accident) जिले में बीते शनिवार हुए सड़क हादसे में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई थी. 15 से ज्यादा लोग इस दुर्घटना में घायल हुए थे. हादसे के फौरन बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने सभी जिलाधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिए थे कि कोई भी व्यक्ति सड़क मार्ग से पैदल, साइकिल, बाइक, ट्रक या अन्य साधन से न जाए. UP के कई जिलों में पुलिस व प्रशासन ने सख्ती भी बढ़ाई है. 

बता दें कि शनिवार तड़के औरेया में दो ट्रकों की भिड़ंत में 24 प्रवासी मजदूरों की मौत हो गई थी. सभी मजदूर महाराष्ट्र से बस्ती जा रहे थे. ज्यादातर लोग बिहार, यूपी व झारखंड के रहने वाले थे. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए जांच के आदेश दिए थे. सीएम योगी प्रवासियों से लगातार अपील कर रहे हैं कि वह सड़क मार्ग से पैदल न जाएं. गृह राज्य या जिला जाने के लिए ट्रेन या बस का प्रयोग करें.

वीडियो: सड़क पर जा रही प्रवासी श्रमिकों की जान

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com