NDTV Khabar

छत्तीसगढ़ में मुठभेड़ के बाद गांव से सामूहिक पलायन

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. छत्तीसगढ़ में कोरसागुडा एवं सरकेगुडा गांव के लोग 28 जून को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) एवं संदिग्ध नक्सलियों के बीच मुठभेड़ से भयभीत हो कर बड़ी संख्या में पड़ोसी राज्य में शरण ले रहे हैं।
रायपुर:

छत्तीसगढ़ में कोरसागुडा एवं सरकेगुडा गांव के लोग 28 जून को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) एवं संदिग्ध नक्सलियों के बीच मुठभेड़ से भयभीत हो कर बड़ी संख्या में पड़ोसी राज्य में शरण ले रहे हैं।

सरकेगुडा गांव के सरपंच मरकम नारायण ने बताया, "मुठभेड़ के बाद से लोग भयभीत हैं। वे लोग या तो पड़ोसी राज्य आंध्र प्रदेश में रोजगार की तलाश में जा रहे हैं या फिर अपने रिश्तेदारों के घरों में शरण ले रहे हैं।"

सामूहिक रूप से पलायन करने के कारण धान की खेती पर असर पर पड़ रहा है, क्योंकि अधिकतर खेत खाली हैं। यह खरीफ का मौसम है और इस इलाके में पर्याप्त बारिश भी हुई है।

टिप्पणियां

सुरक्षा बलों ने कोरसागुडा गांव में 28-29 जून की रात एक मुठभेड़ में 17 संदिग्ध नक्सलियों को ढेर कर दिया था।


दोनों गांवों के लोगों को इस बात का भय है कि वे सरकार या विपक्ष के बीच आरोप-प्रत्यारोप के केंद्र बन जाएंगे या फिर नक्सलियों द्वारा सताए जाएंगे। इसी डर से ग्रामीण जमीन जायदाद छोड़कर आंध्र प्रदेश में शरण ले रहे हैं।



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... TikTok Viral Video: बिग बॉस के घर से बेघर हुईं मधुरिमा को देखकर रो पड़ी मां, गले लगाकर ऐसे किया प्यार

Advertisement