NDTV Khabar

इंडिया गेट पर सफाई करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री अल्फोंस को नहीं मिला कचरा, वॉलिंटियर्स ने किया इंतजाम

मंत्रालय के अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को हैरान करते हुए नवनियुक्त पर्यटन मंत्री ने इंडिया गेट के मैदान में पहुंच गए.

3419 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
इंडिया गेट पर सफाई करने पहुंचे केंद्रीय मंत्री अल्फोंस को नहीं मिला कचरा, वॉलिंटियर्स ने किया इंतजाम

केंद्रीय राज्य मंत्री अल्फोंस ने इंडिया गेट पर मौजूद कई लोगों से जब हाथ मिलाया तब वे उन्हें पहचान नहीं पाए...

खास बातें

  1. केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री अल्फोंस लगातार सुर्खियों में हैं
  2. मंत्रालय के अधिकारियों को हैरान करते हुए इंडिया गेट के मैदान में पहुंचे
  3. कचरा नहीं मिला, बाद में वॉलिंटियर्स ने कचरे का इंतजाम किया
नई दिल्ली: केंद्रीय पर्यटन राज्यमंत्री अल्फोंस कन्ननथानम जब से मंत्री बने हैं, लगातार सुर्खियों में हैं. कभी अपने विवादास्पद बयानों से तो कभी अपने कारनामों से लगातार मोदी सरकार की मुश्किलें बढ़ा रहे हैं. मंत्री अल्फोंस रविवार को इंडिया गेट के मैदान पर 'स्वच्छता ही सेवा' कैंपेन में हिस्सा लेने के लिए पहुंचे. मजेदार बात यह रही कि उन्हें कोई कचरा नहीं मिला. आनन-फानन में कचरे का इंतजाम कर कैंपेन की रस्म अदायगी की गई.

मंत्रालय के अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को हैरान करते हुए नवनियुक्त पर्यटन मंत्री ने इंडिया गेट के मैदान में पहुंच गए, लेकिन उन्हें कचरा नहीं मिला. बाद में वॉलिंटियर्स और यहां अक्सर आने वाले छात्रों ने कचरे का इंतजाम किया. बाद में उन्होंने बिखरे कूड़ों, पानी की खाली बोतलों, पान मसाला पुड़िया, आईसक्रीम कपों और सूखी पत्तियों को खुद अपने हाथों से एकत्रित करना शुरू कर दिया. वहां मौजूद कई लोगों से जब मंत्री ने हाथ मिलाया तब वे उन्हें पहचान नहीं पाये. उन्होंने कई लोगों की पीठ थपथपाई और लोगों से स्थान को स्वच्छ रखने के लिये कहा. सड़क के किनारे गोलगप्पा जैसे खाद्य पदार्थ बेचने वालों कुछ लोगों से भी उन्होंने बातचीत की और उनसे कुछ सवाल किये.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार के मंत्री केजे अल्फोंस का विवादित बयान- पेट्रोल, डीजल खरीदने वाले भूखे नहीं मर रहे

बहरहाल पेट्रोल की कीमत में इजाफा के संबंध में अपने कल के बयान पर मंत्री ने कोई टिप्पणी नहीं की. इंडिया गेट उन 15 पर्यटन स्थलों में से एक है जिनका चयन पर्यटन मंत्रालय ने किया है. इन स्थानों पर स्वच्छता अभियान चलाया जायेगा और 14 दिन की इस अवधि के दौरान नामी गिरामी हस्तियों को शामिल करते हुए इसे प्रचारित किया जाएगा.

मंत्री ने कहा, "हमलोग यहां इंडिया गेट की सफाई के लिए आए हैं. स्वच्छता कार्यक्रम देशभर में चल रहा है. संदेश यह है कि हमें भारत को स्वच्छ रखना है. न सिर्फ सरकारी कर्मचारी बल्कि हर व्यक्ति इसमें हिस्सा लेगा. इसे हर दिन का अभियान बनाना होगा ना कि कैमरे के लिये साल में सिर्फ एक बार का अभियान."

VIDEO : पेट्रोल- डीजल खरीदने वाले भूखे नहीं मर रहे : मंत्री केजे अल्फोन्स


मंत्रालय द्वारा जिन स्थानों पर स्वच्छता और जागरुकता संबंधी गतिविधियां चलाई जाएंगी उनमें उत्तराखंड में ऋषिकेश घाट, मुंबई में जुहू बीच, कोलकाता दक्षिणेश्वर मंदिर एवं बेलूर मठ, केरल में कोवलम तट तथा गुवाहाटी में कामाख्या मंदिर को शामिल किया गया है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement