कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच आज शाम 4 बजे रेल मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस

कोरोनावायरस लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए चल रही कोशिशों के बीच रेल मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस काफी अहम मानी जा रही है.

कोरोनावायरस लॉकडाउन के बीच आज शाम 4 बजे रेल मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

कोरोनावायरस संकट के बीच रेल मंत्रालय आज शाम 4 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगा. कोरोनावायरस लॉकडाउन और अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए चल रही कोशिशों के बीच रेल मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस काफी अहम मानी जा रही है. बीते दिनों रेल मंत्रालय ने एक जून से 200 ट्रेनें चलाने का ऐलान किया था. इस बीच, प्रवासी मज़दूरों के लिए चलाई जा रही श्रमिक ट्रेनों में अव्यवस्था की खबरें आ रही है. बताया जा रहा है कि ट्रेन 10-10 घंटे लेट चल रही है. रेल मंत्रालय की प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका भी जिक्र किया जा सकता है.   

श्रमिक ट्रेनों में बैठकर आ रहे प्रवासियों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. एक तो ट्रेनें देरी से चल रही हैं और न रास्ते में उनको खाना दिया जा रहा है, न डिब्बों की साफ-सफाई हो रही है. कुछ मजदूरों ने ट्रेनें रोके जाने पर रास्ते में प्रदर्शन भी किया है.

Newsbeep

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


इसी तरह आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम से श्रमिक ट्रेनों में बैठकर आए मजदूरों का गुस्सा उस समय फूट पड़ा जब उनकी ट्रेन को दीन दयाल उपाध्याय स्टेशन के आउटर सिंग्नल पर 10 घंटे तक रोके रखा गया. गुस्साए मजदूरों ने रेलवे ट्रैक पर बिहार के सीएम नीतीश कुमार के खिलाफ नारेबाजी की. इस ट्रेन में सवार एक यात्री ने धीरेन राय ने बताया कि वह रात में ये रेल रात में 11 बजे आ गई थी. तब से लेकर इसे 10 घंटे तक रोककर रखा गया है. उन्होंने बताया कि उनसे इस ट्रेन के लिए 1500 रुपये भी वसूले गए हैं.