NDTV Khabar

मीसा भारती के सीए राजेश अग्रवाल को ईडी ने किया गिरफ्तार, फर्जी कंपनियों से जुड़ा है मामला

इस मामले में कई बड़े लोगों को कमीशन लेकर शैल कंपनियों के जरिए एंट्री दिलाई गई थी. लालू यादव की बेटी मीसा यादव को धन मुहैया कराने का भी राजेश पर आरोप है

25 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मीसा भारती के सीए राजेश अग्रवाल को ईडी ने किया गिरफ्तार, फर्जी कंपनियों से जुड़ा है मामला

मीसा भारती का सीए गिरफ्तार

खास बातें

  1. आठ हजार करोड़ के घोटाले के मामले में यह गिरफ्तारी
  2. शैल कंपनियों के जरिए एंट्री का मामला
  3. ईडी उन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी
नई दिल्ली: लालू यादव और उनके परिवार पर ईडी का शिकंजा कसता ही जा रहा है. आज मीसा भारती के सीए राजेश अग्रवाल को ईडी ने गिरफ्तार किया है. ईडी उन्हें आज रिमांड पर लेकर पूछताछ करेगी. आठ हजार करोड़ के घोटाले के मामले में यह गिरफ्तारी हुई है. लालू यादव की बेटी मीसा यादव को धन मुहैया कराने का भी राजेश पर आरोप है. मीसा की कंपनी मिशेल पैकर्स एंड प्रिटर्स को एंट्री भी दिलाई थी. दरअसल, इस मामले में कई बड़े लोगों को कमीशन लेकर शैल कंपनियों के जरिए एंट्री दिलाई गई थी. जगत प्रोजेक्टस को भी 62 करोड़ से ज्यादा की एंट्री दिलाने का आरोप है. इस मामले में एसके जैन और वीके जैन की पहले ही गिरफ्तारी हो चुकी है. दोनों अभी जेल में हैं. ईडी ने दोनों के खिलाफ पिछले सप्ताह आरोपपत्र दाखिल किया था. राजेश अग्रवाल को पटियाला हाऊस कोर्ट में पेश किया जाएगा.

इससे पहले खबरें आई थीं कि लालू यादव के दिल्‍ली, गुड़गांव समेत 22 ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापा मारा. पीटीआई के मुताबिक सूत्रों के मुताबिक 1000 करोड़ की बेनामी लैंड डील मामले में यह छापेमारी की गई है. इसके साथ राजद नेता और लालू के करीबी प्रेम चंद गुप्‍ता के ठिकानों पर भी छापे मारे गए. यह छापेमारी ऐसे वक्‍त हुई है जब बिहार बीजेपी के नेता सुशील कुमार मोदी ने लालू यादव और उनके परिवार पर जमीन घोटाले के आरोप लगाए.

इस मसले पर प्रतिक्रिया देते हुए सुशील कुमार मोदी ने कहा था कि नीतीश जी की मांग पर ही अब लालू के खिलाफ छापे पड़ रहे हैं. उल्‍लेखनीय है कि राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की संपत्ति मामले में सोमवार को बिहार के मुख्यमंत्री, नीतीश कुमार ने दोटूक शब्दों में बीजेपी नेता सुशील मोदी को सलाह दी थी कि अगर उनके आरोपों में तथ्य है तो वे जांच करा लें. पिछले एक महीने से राजद अध्यक्ष लालू यादव और उनके परिवार के सदस्यों पर अपने पद का दुरुपयोग कर संपत्ति अर्जित करने के आरोप लगते रहे हैं. इस मामले में नीतीश कुमार ने पहली बार बयान दिया था. उसी परिप्रेक्ष्‍य में सुशील मोदी ने यह बात कही.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement