NDTV Khabar

24 घंटे से लापता सुखोई का कोई अता-पता नहीं, घने जंगल वाले इलाके में टूटा था संपर्क

मंगलवार को असम के तेजपुर से एयर बेस से इस विमान ने सुबह 10.30 बजे उड़ान भरी थी, लेकिन 11.10 के बाद इसका रेडियो और राडार संपर्क टूट गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
24 घंटे से लापता सुखोई का कोई अता-पता नहीं, घने जंगल वाले इलाके में टूटा था संपर्क

सुखोई हुआ लापता

खास बातें

  1. सुखोई वायुसेना का अग्रिम पंक्ति का लड़ाकू विमान है.
  2. इसे लेकर कई तरह की आशंका जताई जा रही हैं
  3. अब तक आठ सुखोई हो चुके हैं हादसे का शिकार
नई दिल्ली:
टिप्पणियां
भारतीय वायुसेना के लापता हुए सुखोई लड़ाकू विमान को 24 घंटे से ज्यादा हो गए, लेकिन उसका अभी तक पता नहीं चल पाया है. वायुसेना ने लापता विमान की तलाशी के लिए सी-130 विमान और हेलीकॉप्टर लगाया है पर मौसम खराब होने की वजह इस अभियान में दिक्कत आ रही है. केवल वायुसेना ही नहीं थल सेना और स्थानीय प्रशासन के सारे संसाधन लगा दिए हैं ताकि लापता विमान का कुछ पता लग सके.
 
आपको बता दें कि मंगलवार को असम के तेजपुर से एयर बेस से इस विमान ने सुबह 10.30 बजे उड़ान भरी थी,  लेकिन 11.10 के बाद इसका रेडियो और राडार संपर्क टूट गया. यह विमान तेजपुर के 60 किलोमीटर उत्तर पश्चिम की उड़ान भरा था, हालांकि यहां से चीन की सीमा करीब 200 से 250 किलोमीटर से कम दूरी पर है. 

वैसे लापता विमान सुखोई वायुसेना का अग्रिम पंक्ति का लड़ाकू विमान है. इसमें वे सारे यंत्र लगे हैं जिससे इस बात का पता लगाया जा सकता है कि विमान और कहां है? इसे लेकर कई तरह की आशंका जताई जा रही हैं. जिस इलाके से विमान रडार के संपर्क से बाहर गया है वह पहाड़ी और घने जंगल वाला इलाका है. यही वजह है कि अब तक कुछ पता नहीं चल पाया है. वायु सेना में करीब 240 सुखोई हैं. अब तक आठ सुखोई हादसे का शिकार हो चुके हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement