NDTV Khabar

गुजरात चुनाव : कांग्रेस के बाद डीएमके ने भी चुनाव आयोग की आलोचना की

चुनाव आयोग ने 12 अक्टूबर को घोषणा की थी कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव 9 नवंबर को होगा, लेकिन उसने गुजरात के लिए घोषणा नहीं की.

6.5K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुजरात चुनाव : कांग्रेस के बाद डीएमके ने भी चुनाव आयोग की आलोचना की

डीएमके नेता एमके स्टालिन ने चुनाव आयोग पर निशाना साधा.

खास बातें

  1. चुनाव की तारीख घोषित नहीं किए जाने पर साधा निशाना
  2. डीएमके ने कहा कि आयोग को संदेहों से परे रहकर काम करना चाहिए
  3. इससे पहले कांग्रेस ने भी इस मुद्दे पर चुनाव आयोग को घेरा था
चेन्नई: गुजरात के चुनावी कार्यक्रम की घोषणा नहीं करने पर आलोचना में आज डीएमके ने भी अपने सहयोगी कांग्रेस के साथ शामिल हो गई. पार्टी ने कहा कि आयोग को संदेहों के परे रहकर काम करना चाहिए. चुनाव आयोग ने 12 अक्टूबर को घोषणा की थी कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव 9 नवंबर को होगा, लेकिन उसने गुजरात के लिए घोषणा नहीं की.

यह भी पढ़ें : गुजरात में चुनाव की तारीखों के ऐलान में देरी पर चिदंबरम ने मोदी सरकार और आयोग पर कसा तंज

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा, कई राजनीतिक नेताओं ने उल्लेख किया है कि चुनाव की तारीख की घोषणा में देरी कर चुनाव आयोग ने पीएम मोदी को गुजरात में विभिन्न कार्यक्रमों में शिरकत करने और नए कार्यक्रमों की घोषणा करने का मौका दिया. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने हमेशा इसका उल्लेख किया. इसे उन्होंने चुनावी निकाय का 'एकतरफा' रुख करार दिया. 

VIDEO: चुनाव की तारीख़ों के ऐलान में देरी पर चिदंबरम का तंज

स्टालिन ने पार्टी कार्यकर्ताओं को एक पत्र में कहा कि इसका उल्लेख करना हमारा कर्तव्य है कि चुनाव आयोग के खिलाफ इस तरह के आरोपों से उसकी स्वायत्त कामकाज की छवि धूमिल होगी. आयोग को संदेहों से परे रहकर करना चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement