NDTV Khabar

मॉब लिंचिंग ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रहा : बीजद सांसद

बीजू जनता दल (बीजद) सांसद तथागत सत्पथी ने सोमवार को कहा कि मवेशी व्यापार पर पाबंदी तथा भीड़ द्वारा हत्या (मॉब लिंचिंग) ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी है, क्योंकि किसान अपने मवेशियों को बेच पाने में अक्षम हैं.

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
मॉब लिंचिंग ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रहा : बीजद सांसद
नई दिल्ली:

बीजू जनता दल (बीजद) सांसद तथागत सत्पथी ने सोमवार को कहा कि मवेशी व्यापार पर पाबंदी तथा भीड़ द्वारा हत्या (मॉब लिंचिंग) ने ग्रामीण अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ दी है, क्योंकि किसान अपने मवेशियों को बेच पाने में अक्षम हैं. लोकसभा में मॉब लिंचिंग को लेकर एक चर्चा में सांसद ने कहा कि देश में अधिकांश गाय अब देसी नहीं, बल्कि जर्सी हैं.
सांसद ने कहा, "भारत में आज की तारीख में अधिकांश गाय जर्सी हैं. वे अपनी मां को नहीं पहचान सकतीं..देसी नस्ल की गायों के मरने की परवाह किसी को नहीं है."

उन्होंने कहा, "गाय और बैलों की बिक्री कौन करते हैं? गरीब हिंदू किसान. इस बात से कोई इनकार नहीं कर रहा कि गाय ग्रामीण भारत के लिए एक अहम आर्थिक औजार है..जब जानवर बेकार हो जाता है, हिंदू किसान उसे बेच देते हैं और जो उसे खरीदता है, वह हिंदू भी हो सकता है और मुसलमान भी."

भीड़ की हिंसा पर लोकसभा में आज चर्चा, विपक्ष पीएम मोदी के उपस्थित रहने की मांग पर अड़ा


सांसद ने कहा कि किसानों को बेकार जानवरों को साथ रखने पर मजबूर किया जा रहा है, जिससे उनके पालन पर पैसे खर्च करने पड़ रहे हैं, क्योंकि वह उसे कहीं नहीं बेच सकता.
सत्तापक्ष को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "किसान बेकार जानवरों को बेचने में अक्षम हैं. आर्थिक चक्र रुक गया है. यह पैसा दूसरा ऋण लेने के लिए उनका प्राथमिक धन हो सकता है, लेकिन अब आपने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पूरी तरह बर्बाद कर दिया है."

टिप्पणियां

VIDEO : मल्लिकार्जुन खड़गे बोले - देश को लिचिंस्तान न बनाएं

उन्होंने कहा, "वास्तव में आपने ग्रामीण अर्थव्यवस्था को लिंचिंग से तबाह किया है..आपने उस प्रक्रिया की शुरुआत की है, जिसमें अंतत: आप हिंदू किसान की जान लेंगे. अल्पसंख्यकों को मारकर वस्तुत: आप बहुसंख्यकों को मार रहे हैं." सत्पथी ने कहा कि वह किसानों को सलाह दे रहे हैं कि वे अपने बेकार हो चुके जानवरों को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) कार्यकर्ताओं के पास देखभाल के लिए पहुंचा दें.

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement