NDTV Khabar

मोदी सरकार का एक और बड़ा फैसला: ग्रामीण कृषि बाजारों के विकास पर खर्च करेगी 2000 करोड़ रुपये

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार ने कृषि बाजार के विकास के लिए एक और बड़ा फैसला लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोदी सरकार का एक और बड़ा फैसला: ग्रामीण कृषि बाजारों के विकास पर खर्च करेगी 2000 करोड़ रुपये
नई दिल्ली :

लोकसभा चुनाव से पहले मोदी सरकार (Modi Cabinet) ने कृषि बाजार के विकास के लिए एक और बड़ा फैसला लिया है. मोदी मंत्रिमंडल ने बुधवार को 2,000 करोड़ रुपये के कृषि बाजार ढांचागत कोष (एएमआईएफ) की स्थापना को मंजूरी दे दी. यह कोष ग्रामीण कृषि बाजारों के विकास और उन्नयन (अपग्रेडेशन) के लिए काम करेगा. 

मोदी सरकार का बड़ा फैसला: छह पनडुब्बियों के स्वदेश में निर्माण को दी मंजूरी, 40 हजार करोड़ रुपए की आएगी लागत

एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि  2,000 करोड़ रुपये के इस कोष की स्थापना नाबार्ड करेगा. बयान में कहा गया है कि मंत्रिमंडल की आर्थिक मामलों की समिति ने 2,000 करोड़ रुपये के कृषि बाजार ढांचागत कोष की स्थापना को मंजूरी दे दी है. इस कोष की स्थापना नाबार्ड द्वारा की जाएगी. बयान में कहा गया है कि एएमआईएफ राज्यों और संघ शासित प्रदेशों की सरकारों को 585 कृषि उपज मंडी समितियों (एपीएमसी) तथा 10,000 ग्रामीण हाटों के विकास की उनकी परियोजनाओं के लिए सब्सिडीशुदा कर्ज उपलब्ध कराएगा.


पीएम मोदी का विपक्ष पर हमला, बोले- अगड़ी जाति के आरक्षण से विपक्षी दलों की नींद उड़ गई

टिप्पणियां

आगे कहा गया है कि राज्य सरकारें नवोन्मेषी बाजार ढांचागत परियोजनाओं के लिए एएमआईएफ से कर्ज ले सकेंगी. यह कोष सार्वजनिक निजी भागीदारी (पीपीपी) वाली मंडी विकास परियोजनाओं के लिए भी रिण सहायता दे सकेगा.

VIDEO: चुनाव से पहले आरक्षण का दांव



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement