कश्मीर में हलचल के बीच मोदी सरकार ने बुलाई कैबिनेट की बैठक, लिया जा सकता है बड़ा फैसला

जम्मू कश्मीर में हो रही हलचल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर आज सुबह 9.30 बजे बैठक होगी. ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार की इस कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला लिया जा सकता है.

कश्मीर में हलचल के बीच मोदी सरकार ने बुलाई कैबिनेट की बैठक, लिया जा सकता है बड़ा फैसला

प्रधानमंत्री आवास पर सुबह 9.30 बजे होगी मीटिंग

खास बातें

  • मोदी कैबिनेट की बैठक आज
  • प्रधानमंत्री आवास पर सुबह 9.30 बजे होगी बैठक
  • कई अहम मुद्दों पर लिया जा सकताा फैसला
नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर में हो रही हलचल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आवास पर आज सुबह 9.30 बजे बैठक होगी. ऐसा कहा जा रहा है कि केंद्र सरकार की इस कैबिनेट बैठक में बड़ा फैसला लिया जा सकता है. इस बैठक से कुछ घंटों पहले ही जम्मू कश्मीर में नेशनल कांफ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला, पीडीपी नेता और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और जम्मू कश्मीर पीपुल्स कांफ्रेंस के चेयरमैन सज्जान लोग को नजरबंद कर दिया गया. ऐसे में कयास लगाए जा रहे है कि इस बैठक में जम्मू कश्मीर से संबंधित फैसला भी लिया जा सकता है. 

मोदी और शाह- दो बाघ, एक पहाड़, राजनाथ कहां छूटे?

नेताओं को नजरबंद करने का मामला प्रकाश में तब आया, जब जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुला और महबूबा मुफ्ती ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट के जरिए आशंका जताई कि उन्हें हाउस अरेस्ट यानी की नजरबंद किया जा रहा है. उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया, 'मुझे लगता है कि मुझे आज आधीरात से घर में नजरबंद किया जा रहा है और मुख्यधारा के अन्य नेताओं के लिए भी यह प्रक्रिया पहले ही शुरू हो गई है. इसकी सच्चाई जानने का कोई तरीका नहीं है लेकिन अगर यह सच है तो फिर आगे देखा जाएगा.' तो वहीं महबूबा मुफ्ती ने लिखा कि इतने मुश्किल वक्त में, मैं अपने लोगों को आश्वस्त करना चाहती हूं कि जो भी हो हम एकजुट हैं और हम एक साथ लड़ेंगे. जिस पर हमारा अधिकार है उसके लिए लड़ने के हमारे संकल्प को कोई भी चीज नहीं डिगा सकती. उन्होंने लिखा कि अल्लाह जानता है कि हमारे लिए कल क्या इंतजार कर रहा है. यह रात लंबी होने वाली है.'  

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मेनका गांधी से पूछा गया, मोदी कैबिनेट में क्यों नहीं मिली जगह, तो बोलीं- अच्छा तो मैं चलती हूं...

हालांकि जम्मू कश्मीर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पूर्व मुख्यमंत्रियों उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती को घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं है क्योंकि आतंकवादी धमकी और नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान के साथ तनाव बढ़ा हुआ है. इधर जानकारी मिल रही है कि घाटी में पैदा हुए तनाव के बीच गृह मंत्री अमित शाह भी जम्मू के दौरे पर जा सकते हैं. शाह दो दिनों के लिए घाटी में भी रुक सकते हैं. इससे पहले जम्मू कश्मीर में बड़ी संख्या में अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई थी. अनिश्चिताओं के बादलों के बीच जम्मू कश्मीर का राजनीतिक पारा भी चढ़ गया है. राज्य