NDTV Khabar

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल की आज होगी पहली बैठक, 100 दिनों के एक्शन प्लान और तीन तलाक पर होगी चर्चा

इस मीटिंग में पीएम मोदी अपने मंत्रियों से मैनीफेस्टो में किए गए वादों को पूरा करने के लिए कहेंगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मोदी सरकार के मंत्रिमंडल की आज होगी पहली बैठक, 100 दिनों के एक्शन प्लान और तीन तलाक पर होगी चर्चा

खास बातें

  1. मोदी सरकार के मंत्रिमंडल की आज पहली बैठक
  2. 100 दिनों के एक्शन प्लान के लिए पीएम मोदी देंगे निर्देश
  3. जूनियर मंत्रियों की भूमिका के बारे में भी चर्चा होगी
नई दिल्ली:

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल की आज पहली बैठक होगी. इस मीटिंग में पीएम मोदी (Narendra Modi) अपने मंत्रियों से मैनीफेस्टो में किए गए वादों को पूरा करने के लिए कहेंगे. वह मंत्रियों से 100 दिनों के एक्शन प्लान के लिए कहेंगे. मोदी सरकार पूरी तरह एक्शन में नजर आ रही है और यहां जूनियर मंत्रियों की भूमिका के बारे में भी चर्चा होगी. जूनियर मंत्रियों के लिए सीनियर मंत्रियों को जिम्मेदारी सौंपने के लिए कहा जाएगा. संभावना है कि कैबिनेट ट्रिपल तलाक बिल ला सकता है. यह बिल लोकसभा से पास हो गया था लेकिन राज्यसभा में अभी भी अटका हुआ है. अब 16 वीं लोकसभा के विघटन के साथ यह बिल खत्म हो गया है. अब सरकार तय करेगी कि 17वीं लोकसभा में इस नए बिल का क्या होगा. आज शाम 4 बजे कैबिनेट की मीटिंग है. मंत्रियों की बैठक शाम 5 बजे होगी.

अरहर की दाल के बढ़ते दामों पर सरकार ने लिए कई फैसले, यहां जानिए पूरा मामला


हालांकि एनडीए (NDA) में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है. जेडीयू (JDU) के बाद अब बीजेपी (BJP) की सहयोगी पार्टी शिवसेना (Shiv Sena) नाराज चल रही है. सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री पद को लेकर शिवसेना और बीजेपी में मनमुटाव है. राज्य में इसी साल विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly election) होने जा रहा है.

टिप्पणियां

अल्पसंख्यकों के लिए PM मोदी का तोहफा: अगले 5 सालों में 5 करोड़ छात्रों के लिए स्कॉलरशिप, आधी होंगी लड़कियां

दोनों पार्टियां यहां अपना-अपना मुख्यमंत्री चाहती हैं. शिवसेना (Shiv Sena) ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला चाहती है, वहीं, अमित शाह (Amit Shah) महाराष्ट्र में बीजेपी का मुख्यमंत्री चाहते हैं. शिवसेना के सूत्रों का कहना है कि अमित शाह ने कहा था कि दोनों दलों में ज़िम्मेदारियां बराबर बांटी जाएंगी. ऐसे में मुख्यमंत्री पद का कार्यकाल भी बराबरी से बांटा जाएगा. उन्होंने कहा कि हमें अमित शाह जी की बात पर पूरा भरोसा है. आख़िरी निर्णय अमित शाह और उद्धव ठाकरे लेंगे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement