NDTV Khabar

NRI को मतदान की अनुमति देने वाला विधेयक संसद में पेश करेगी सरकार

प्रवासी भारतीयों को मतदान की अनुमति देने वाला विधेयक संसद में पेश करेगी सरकार.

9 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
NRI को मतदान की अनुमति देने वाला विधेयक संसद में पेश करेगी सरकार

संसद (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: केन्द्र सरकार ने आज उच्चतम न्यायालय को जानकारी दी कि संसद के आगामी शीतकालीन सत्र में प्रवासी भारतीयों (एनआरआई) को डाक या ई वैलेट के जरिये मतदान की अनुमति देने के लिए चुनाव कानून में संशोधन वाला विधेयक पेश किया जाएगा.

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा, न्यायमूर्ति ए एम खानविल्कर और न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ की पीठ ने केन्द्र की दलीलों पर विचार किया और उसके इस अनुरोध को स्वीकार किया कि एनआरआई के लिए मताधिकार के अनुरोध वाली याचिकाओं पर सुनवाई स्थगित की जाए.

यह भी पढ़ें - 24 हजार से अधिक प्रवासी भारतीयों ने मतदाता बनने के लिए कराया रजिस्ट्रेशन

केन्द्र की ओर से पेश वकील पी के डे ने इस आधार पर छह महीने का स्थगनादेश मांगा कि विधेयक शीतकालीन सत्र में पेश किया जाए. हालांकि पीठ ने सुनवाई 12 हफ्तों के लिए स्थगित की.

अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल ने 21 जुलाई को अदालत से कहा था कि जन प्रतिनिधित्व कानून के तहत दिये नियमों में बदलाव करके एनआरआई को मतदान की अनुमति नहीं दी जा सकती और मताधिकार के लिए कानून में संशोधन हेतु संसद में विधेयक पेश करने की जरूरत है.

​यह भी पढ़ें - अमेरिका में रह रही भारतीय महिला को रोककर पूछे आव्रजन से जुड़े सवाल, प्रवासियों में डर!

अदालत ने 14 जुलाई को केन्द्र से इस बारे में फैसला करने को कहा था कि वह एनआरआई को डाक या ई वैलेट से मतदान की अनुमति के लिए चुनाव कानून या नियम में बदलाव करेगा या नहीं.

VIDEO - प्रवासी भारतीयों को प्रॉक्सी वोटिंग की मंजूरी से उठे सवाल

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement