मोदी समर्थकों ने सोशल मीडिया पर मेरे विकलांग बेटे को भी नहीं बख़्शा : अरुण शौरी

मोदी समर्थकों ने सोशल मीडिया पर मेरे विकलांग बेटे को भी नहीं बख़्शा : अरुण शौरी

अरुण शौरी का आरोप है कि भाजपा समर्थकों ने उनके साथ ऑनलाइन बदसलूकी की है

नई दिल्ली:

पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी का ओराप है कि जब से उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आलोचना की है तब से भाजपा के समर्थकों उनके साथ ऑनलाइन बदसलूकी पर उतर आए हैं। किसी वक्त पीएम मोदी के प्रशंसक माने जाने वाले शौरी का कहना है कि भाजपा समर्थकों ने उनके बेटे को भी नहीं छोड़ा जो मस्तिष्क से जुड़ी Cerebral Palsy नाम की बीमारी से पीड़ित है।

शौरी ने एनडीटीवी से बातचीत में कहा 'मेरे और मेरे बेटे के बारे में जो अपशब्द इस्तेमाल किए गए हैं, उन्हें पढ़कर आपके दर्शक भी चौंक जाएंगे। उन लोगों ने लिखा है - इसका मेंटल सन है, वो और भी मेंटल बनेगा। ऐसे मूर्खों को सोशल मीडिया पर पीएम फॉलो करते हैं।'

यह भी पढ़ें - बिहार की हार भाजपा के लिए तमाचा

अरुण शौरी ने यह सभी बातें उस चर्चा के दौरान की हैं जिसमें बिहार चुनाव में भाजपा के प्रदर्शन पर बात हो रही थी। शौरी ने अपने विचार रखते हुए कहा कि इस नतीजे से साफ होता है कि देश को बंटवारे और बदसलूकी की दिशा में खींचा जा रहा था लेकिन  बिहार के लोगों ने उस रास्ते को बंद कर दिया।

अफसोसजनक है बदसलूकी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वहीं भाजपा के वरिष्ठ नेता विनय सहस्त्रबुद्धे भी चर्चा में शामिल थे और उन्होंने शौरी के साथ बदसलूकी किए जाने को अफसोसजनक बताते हुए कहा कि ये जानकर बहुत ही दुख हो रहा है कि सोशल मीडिया पर इस तरह की टिप्पणियां कसी जा रही हैं। उन्होंने अपनी बात पूरी करते हुए कहा कि पीएम मोदी ने सोशल मीडिया पर अपने समर्थकों से भड़काऊ बातों से दूर रहने के लिए कह रखा है।

जुलाई में पीएम ने 150 ऐसे समर्थकों से मुलाकात की थी जो सोशल मीडिया पर काफी 'असरदार' हैं और विनय की मानें तो नरेंद्र मोदी ने उसी वक्त इन सभी से अपनी भाषा पर काबू पाने के लिए कहा था। उन्होंने कहा था कि सोशल मीडिया नफरत फैलाने का मंच नहीं है। हालांकि शौरी का आरोप है कि ऐसे कई 'असरदार' लोग सोशल मीडिया पर अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं और इसके बावजूद पीएम मोदी ट्विटर पर उनका साथ छोड़ने को तैयार नहीं है।