NDTV Khabar

यूपी के योगी शासन पर क्रिकेटर मौहम्मद कैफ का ट्वीट, 'टुंडे मिलें या न मिलें, गुंडे न मिलें'

4.4K Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
यूपी के योगी शासन पर क्रिकेटर मौहम्मद कैफ का ट्वीट, 'टुंडे मिलें या न मिलें, गुंडे न मिलें'

क्रिकेटर मौहम्मद कैफ ने ट्वीट कर यूपी के मुख्यमंत्री के कामों की सरहाना की है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. अवैध बूचड़खानों के खिलाफ कर रहे हैं मुख्यमंत्री आदित्यनाथ
  2. क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने यूपी सरकार के कामों की सरहाना की
  3. UP और उत्तराखंड में BJP की जीत पर भी दी थी कैफ ने बधाई
नई दिल्ली:
उत्तर प्रदेश की सत्ता संभालते ही योगी आदित्यनाथ अपना तेज-तर्रार अंदाज बरकरार रखते हुए प्रशासन को दुरुस्त करने लिए एक के बाद एक फैसले ले रहे हैं. पहले अवैध बुचड़खानों के खिलाफ कार्रवाई तो अब एंटी रोमियो दल बनाकर लड़कियों को परेशान करने वाले लोगों को सबक सिखाया जा रहा है. इसके अलावा कानून व्यवस्था को दुरुस्त बनाने के लिए पुलिस प्रशासन को भी सख्त निर्देश दिए गए हैं.

मुख्यमंत्री योगी के इन फैसलों पर जनता में तमाम तरह की प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं. जहां विपक्ष इन्हें लेकर तिलमिला रहा है, वहीं समर्थक योगी की जय-जयकार कर रहे हैं. इन प्रतिक्रियाओं में आम जनता के साथ-साथ नेता, अभिनेता और खिलाड़ी भी शामिल हैं.

पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने प्रदेश सरकार के कामों की सरहाना की है. कैफ ने एक ट्वीट करते हुए अवैध बूचड़खानों और एंटी रोमियो दल को लेकर कहा है, ''टुंडे मिलें या न मिलें, गुंडे न मिलें. सभी अवैध चीजों पर रोक लगनी चाहिए, अच्छा कदम है.''
कैफ के इस कमेंट को खूब वाहवाही मिल रही है. इससे पहले भी बीजेपी को यूपी और उत्तराखंड में स्पष्ट बहुमत मिलने पर कैफ ने बीजेपी को बधाई दी थी. कैफ की बधाई पर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर शुक्रिया अदा किया था.
बता दें कि मुख्यमंत्री द्वारा अवैध बूचड़खानों पर जब कार्रवाई करनी शुरू की थी, तो इसका असर लखनऊ के मशहूर टुंडे कबाब पर भी देखने को मिला था. बताते हैं कि 100 साल के इतिहास में पहली बार बीते बुधवार को  'टुंडे कबाबी' दुकान बंद रही. इस दुकान पर भैंस के मीट के कबाब मिलते हैं, दुनियाभर में मशहूर हैं.

ये भी पढ़ें-लखनऊ के मशहूर टुंडे कबाब पर भी पड़ा योगी आदित्यनाथ का असर, 100 साल में पहली बार बंद रही दुकान

इस दुकान का बंद रहना मीडिया में काफी चर्चा का विषय बना. इसी मुद्दे को उठाते हुए मौहम्मद कैफ ने यह ट्वीट किया.
कैफ के इस ट्वीट पर भी काफी तादाद में प्रतिक्रियाएं मिल रही हैं. इस ट्वीट को 7.5 हज़ार बार रिट्वीट किया जा चुका है और 10 हज़ार से भी अधिक इसे लाइक मिले हैं.

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement