NDTV Khabar

राम मंदिर पर मोहन भागवत ने दिया ऐसा बयान तो मौलानाओं का आया चौंकाने वाला रिएक्शन

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के अयोध्या में एक भव्य राममंदिर के निर्माण पर समर्थन देने के बयान के बाद मुस्लिम मौलानाओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
राम मंदिर पर मोहन भागवत ने दिया ऐसा बयान तो मौलानाओं का आया चौंकाने वाला रिएक्शन

RSS प्रमुख मोहन भागवत- (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. उदयपुर में मोहन भागवत
  2. राम मंदिर पर दिया बयान
  3. मुस्लिम मौलानाओं का आया रिएक्शन
नई दिल्ली:

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत के अयोध्या में एक भव्य राममंदिर के निर्माण पर समर्थन देने के बयान के बाद मुस्लिम मौलानाओं ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. ईदगाह के इमाम और सुन्नी धर्मगुरु मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने कहा, "ऐसा बयान देना सही नहीं है जब मामला सर्वोच्च न्यायालय में हो. मध्यस्थता की प्रक्रिया भी अदालत की निगरानी में चल रही है." उन्होंने कहा, "मुस्लिम निर्णय का इंतजार कर रहे हैं और हिंदुओं को भी धैर्य रखना चाहिए. इस तरह के बयान से केवल विवाद होता है."

सूरत अग्निकांड: सामने आईं नगर निगम और बिल्डर की खामियां, तीन मंजिला कॉम्पलेक्स में अवैध रूप से बनी थी चौथी मंजिल

बाबरी मस्जिद एक्शन कमेटी के संयोजक और आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य जफरयाब जिलानी ने कहा, "आरएसएस प्रमुख का बयान इस समय सही नहीं है जब मध्यस्थता की प्रक्रिया चल रही है. मुसलमानों ने हमेशा कहा है कि वे सर्वोच्च न्यायालय के फैसले को स्वीकार करेंगे. इसलिए इस तरह के बयान की क्या जरूरत है?"


शिया धर्मगुरु मौलाना यासूब अब्बास ने कहा कि जब मामला अदालत के अधीन है, दोनों समुदाय के नेताओं को ऐसे बयानों से दूर रहना चाहिए. लोकसभा चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) की जबरदस्त जीत के बाद, रविवार को उदयपुर दौरे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत ने पहली बार बयान देते हुए कहा कि राम का काम करना है, राम का काम होकर ही रहेगा. वह प्रताप गौरव केंद्र के 'मंदिर प्राण प्रतिष्ठा' कार्यक्रम के लिए गए हुए थे. उनके साथ वहां अध्यात्मिक गुरु मोरारी बापू भी मौजूद थे.

मध्य प्रदेश: मंत्रिपरिषद की बैठक में आदिवासी मंदिरों के जीर्णोद्धार समेत कई योजनाओं को मिली मंजूरी

कार्यक्रम को सबसे पहले मोरारी बापू ने संबोधित किया. इस अवसर पर उन्होंने कहा, "सदियों से यह देश राम का नाम लेता आ रहा है. आज यह देश उन परिस्थितियों से गुजर रहा है कि हमें राम के काम के बारे में भी सोचना चाहिए. मैं युवाओं के हाथों में राम नाम लिखा देखकर खुश होता हूं." उनके संबोधन के बाद भागवत ने कहा, "हमें मोरारी बापू द्वारा दिए गए संदेश को याद रखना चाहिए. राम के काम को किए जाने की जरूरत है और राम का काम होकर रहेगा. राम हमारे हृदय में बसते हैं. हमें सक्रिय होने की जरूरत है और हमारे लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आगे बढ़ने की जरूरत है."

परिवारवाद की राजनीति को लेकर शिवानंद तिवारी ने साधा बीजेपी पर निशाना, कहा- शोर मचा रहे हैं सत्ताधारी दल के लोग

टिप्पणियां

भागवत शुक्रवार से ही उदयपुर के चार दिवसीय दौरे पर हैं, जहां वह आरएसएस द्वारा संचालित 'संघ शिक्षा सेवा द्वितीय' प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने आए हुए हैं. शुक्रवार को उदयपुर हवाईअड्डे पर उतरने के तुरंत बाद भागवत ने मीडिया से कहा, "आ गई है सरकार वापस."

(इनपुट आईएएनएस से)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement