Weather Updates: दिल्ली एनसीआर में गर्मी के साथ नमी वाला मौसम रहने के आसार, असम में बाढ़ से हालात गंभीर, जानें अपने राज्य का मौसम

Delhi Weather Today: दिल्ली एनसीआर में आज यानी बुधवार को भी गर्मी के साथ नमी वाला मौसम रहने की उम्मीद जताई गई है और हल्की बारिश की संभावना भी है.

Weather Updates: दिल्ली एनसीआर में गर्मी के साथ नमी वाला मौसम रहने के आसार, असम में बाढ़ से हालात गंभीर, जानें अपने राज्य का मौसम

Delhi Weather Updates: दिल्ली में गर्मी के साथ नमी वाला मौसम का अनुमान

खास बातें

  • दिल्ली में नमी वाला मौसम रहने के आसार
  • नमी के साथ रहेगी गर्मी
  • मंगलवार को कुछ इलाकों में हल्की बारिश हुई
नई दिल्ली:

Weather Updates: दिल्ली एनसीआर में आज यानी बुधवार को भी गर्मी के साथ नमी वाला मौसम रहने की उम्मीद जताई गई है और हल्की बारिश की संभावना भी है. मंगलवार को दिल्ली एनसीआर (Weather Updates) में सुबह गर्मी के साथ काफी काफी नमी वाला मौसम रहा था. यहां न्यूनतम तापमान 28.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था. यह मौसम के औसत तपामान से एक डिग्री सेल्सियस अधिक है. सुबह में आर्द्रता का स्तर 57 फीसदी तक पहुंच गया था. मौसम वैज्ञानिक ने मंगलवार को आकाश में बादल छाए रहने और मध्यम बारिश की संभावना जताई है थी. हालांकि कुछ इलाकों में हल्की बूंदाबांदी हुई थी, लेकिन उम्मीद के अनुसार बारिश नहीं हुई थी. मंगलवार को यहां अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

Mumbai Rains: मुंबई में भारी बारिश का अलर्ट जारी, बढ़ सकती है लोगों की परेशानी

उत्तर भारत में बारिश, लोगों को गर्मी से मिली राहत 
उत्तर भारत के कई इलाकों में मंगलवार को भारी बारिश हुई और आज यानी बुधवार को भी बारिश की आसार हैं. यहां मंगलवार को सर्वाधिक बारिश उत्तराखंड के ऊधम सिंह नगर जिले में हुई. इस जिले में 222 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ मे भी अच्छी बारिश हुई जिससे लोगों गर्मी और उमस से राहत मिली. राष्ट्रीय राजधानी में हल्की बारिश से तापमान दो डिग्री सेल्सियस कम हो गया. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि दिल्ली में अधिकतम तापमान 34.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ जो सामान्य से दो डिग्री कम था जबकि न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 28.8 डिग्री सेल्सियस रहा. उत्तराखंड के किच्छा में 135 मिलीमीटर जबकि देहरादून जिले के कलसी में 129 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई. आपदा प्रबंधन कार्यालय ने कहा कि चंपावत जिले के बनबासा में 79 मिलीमीटर बारिश हुई. पर्वतीय राज्य के पिथौरागढ की काली और गोरी नदियां खतरे के निशान क्रमश: 888.7 मीटर और 604.55 मीटर से बस कुछ मीटर नीचे बह रही हैं. मौसम विभाग ने 15 जुलाई तक इसी तरह के मौसम का पूर्वानुमान लगाया है और नैनीताल, चंपावत, ऊधम सिंह नगर, पिथौरागढ, चमोली,टिहरी, पौड़ी, देहरादून और हरिद्वार में भारी बारिश हो सकती है. 


बिहार में बारिश से लुढ़का पारा
बिहार की राजधानी पटना सहित राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में रविवार से रुक-रुककर हो रही बारिश मंगलवार को भी जारी रही और ऐसे आसार लगाए जा रहे हैं कि बुधवार को भी यह जारी रहेगी. इस बीच पटना में सोमवार की तुलना में मंगलवार को तापमान में भी मामूली गिरावट दर्ज की गई है. पटना का मंगलवार को न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. पटना मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक, मंगलवार को भागलपुर का न्यूनतम तापमान 26.3 डिग्री सेल्सियस, गया का 25.6 डिग्री सेल्सियस और पूर्णिया का 26.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि अगले 24 घंटे के दौरान राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में छिटपुट बारिश होने के आसार हैं. इस दौरान कुछ क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश की उम्मीद जताई जा रही है. 

मध्य प्रदेश में बारिश के बाद पर्यटक स्थल हुआ गुलजार, वाटरफॉल के नजारे देखने के लिए उमड़ रही भीड़


राजस्थान के पूर्वी हिस्सों में बारिश
राजस्थान में पिछले 24 घंटों के दौरान पूर्वी क्षेत्र के कुछ हिस्सों में भारी बारिश और अधिकतर स्थानों तथा पश्चिमी क्षेत्र के कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई. बुधवार को भी यहां हल्की बारिश की संभावना है. मौसम विभाग के आंकड़े के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान धौलपुर जिले के राजाखेड़ा में नौ सेंटीमीटर, जयपुर के शाहपुरा में आठ सेंटीमीटर, करौली के मंडरायल में छह सेंटीमीटर, नादौती में छह सेंटीमीटर, भरतपुर के डीग में पांच सेंटीमीटर, भरतपुर तहसील में पांच सेंटीमीटर, सीकर के नीमकाथाना में पांच सेंटीमीटर, झुंझुनूं के खेतड़ी में पांच सेंटीमीटर, दौसा के सिकराय में पांच सेंटीमीटर, धौलपुर के सैपउं में चार सेंटीमीटर, झुंझुनूं के उदयपुरवाटी में चार सेंटीमीटर, धौलपुर तहसील में तीन सेंटीमीटर, बसेड़ी में तीन सेंटीमीटर, भरतपुर के नगर में तीन सेंटीमीटर, चूरू के राजगढ़/सादुलपुर में चार सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई. मौसम विभाग के प्रवक्ता के अनुसार श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 42.3 डिग्री सेल्सियस, बीकानेर में 41.4 डिग्री सेल्सियस, जैसलमेर में 40.8 डिग्री सेल्सियस और राज्य के अधिकतर प्रमुख अन्य स्थानों पर 39.8 डिग्री सेल्सियस से लेकर 31.6 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया. वहीं, राज्य के अधिकतर हिस्सों में न्यूनतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस से लेकर 25.5 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया. विभाग ने आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के कुछ स्थानों पर गरज के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने के संभावना जताई है. 

अमेरिका में भारी बारिश ने तोड़े पुराने रिकॉर्ड, व्हाइट हाउस के बेसमेंट ऑफिस में भी घुसा पानी


मध्य प्रदेश में बदली छाई, गर्मी से राहत
मध्य प्रदेश की राजधानी सहित राज्य के अन्य हिस्सों में बुधवार को हल्की बारिश के आसार हैं. यहां मंगलवार की सुबह से बदली छाई हुई है, वहीं हवाओं के चलने से मौसम राहत देने वाला है. राज्य में मानसून की सक्रियता ने मौसम को सुहावना बना दिया है, आसमान में बदली छाई है और हवाएं चल रही है. बीते कुछ दिनों में हुई बारिश से तापमान में गिरावट भी आई है और गर्मी का असर कम है, मगर बारिश का दौर कमजोर पड़ते ही कई स्थानों पर उमस बढ़ जाती है. मौसम विभाग का पूर्वानुमान है कि आगामी 24 घंटों में राज्य के कई हिस्सों में बारिश हो सकती है. मंगलवार को भोपाल का न्यूनतम तापमान 24.8 डिग्री सेल्सियस, इंदौर का 24.4 डिग्री सेल्सियस, ग्वालियर का 22.6 डिग्री सेल्सियस और जबलपुर का 24.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

असम में बाढ़ के हालात गंभीर, 8 जिलों में 62 हजार लोग प्रभावित 
असम में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं. बुधवार को भी यहां बारिश की संभावना है. मंगलवार को हुई बारिश से यहां हालात गंभीर हो गए हैं. राज्य के जिलों में 62 हजार से अधिक लोग इससे प्रभावित हुए हैं. 
असम राज्य आपदा मोचन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने बताया कि 145 गांव पानी में डूबे हुए हैं और 3,435 हैक्टेयर फसल क्षेत्र को नुकसान हुआ है. बाढ़ के हालात और खराब हो सकते हैं क्योंकि मौसम विभाग ने अगले कुछ दिनों में असम समेत पूर्वोत्तर राज्यों में तेज बारिश का अनुमान जताया है. बाढ़ से धेमाजी, लखीमपुर, विश्वनाथ, बारपेटा, चिरांग, गोलाघाट, जोरहाट और डिब्रूगढ़ जिलों में करीब 62,400 लोग प्रभावित हुए हैं.    एएसडीएमए ने बताया कि प्राधिकारी दो जिलों में पांच राहत शिविर एवं वितरण केन्द्र चला रहे हैं, जहां 203 लोग शरण लिये हुए हैं. बारपेटा, उदालगिरी, लखीमपुर, सोनितपुर और जोरहाट जिलों में कई इलाकों में तटबंधों, सड़कों, पुलों, पुलियाओं और अन्य ढांचों को नुकसान हुआ है. मौसम विभाग ने नौ से 12 जुलाई के दौरान पूर्वोत्तर राज्यों तेज बारिश की संभावना जताई है. विभाग ने असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा के दूर-दराज के इलाकों में भारी से बहुत भारी बारिश होने का अनुमान जताया है.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO: मध्य प्रदेश: बाइक सवार शख्स पानी के बहाव में गिरा, बाल-बाल बची जान