NDTV Khabar

देश भर में मानसून की बारिश का सिलसिला जारी, बाढ़ से आठ लोगों की मौत

कई राज्यों में तेज बारिश का पर्वानुमान, अधिक बारिश से बढ़ सकती है परेशानी

11 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
देश भर में मानसून की बारिश का सिलसिला जारी, बाढ़ से आठ लोगों की मौत

बारिश से ओडिशा में नदियों में बाढ़ आ गई है.

खास बातें

  1. असम में बाढ़ के कारण पांच और लोगों की मौत हो गई
  2. गुजरात में भी बाढ़ के कारण दो लोगों के मरने की खबर
  3. हिमाचल में बादल फटे, अचानक आई बाढ़ में एक व्यक्ति बहा
नई दिल्ली: देश के करीब सभी इलाकों में मानसून की बारिश ने जोर पकड़ लिया है. इससे नदियों में बाढ़ आ गई है. सोमवार को देश के अलग-अलग क्षेत्रों में बाढ़ के कारण आठ और लोगों की जान चली गई. मौसम विभाग के अधिकारियों ने कई राज्यों में बारिश का पूर्वानुमान जताया है जिसके चलते बाढ़ प्रभावित इलाकों में स्थिति और बिगड़ सकती है.

मूसलाधार बारिश के चलते हिमाचल प्रदेश, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और ओडिशा के कुछ हिस्सों में स्थिति बदतर हो गई है. ओडिशा के कुछ हिस्सों में अचानक आई बाढ़ में कल एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

असम में बाढ़ के कारण पांच और लोगों की मौत हो गई. बहरहाल कुल स्थिति में थोड़ा सुधार देखा गया है जबकि राज्य के 17 जिलों में अब भी करीब आठ लाख लोग प्रभावित हैं.

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) की रिपोर्ट के अनुसार मध्य असम के मोरीगांव में तीन लोगों की मौत हो गई और ग्वालपाड़ा एवं गोलाघाट जिलों में एक-एक व्यक्ति की मौत हो गई, जिससे असम में बाढ़ से संबंधित घटनाओं में मरने वालों की संख्या बढ़कर 65 हो गई.

राज्य आपात अभियान केंद्र (एसईओसी) ने बताया कि गुजरात में भी बाढ़ के कारण दो लोगों के मरने की रिपोर्ट है. इसके साथ ही राज्य में मूसलाधार बारिश से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11 हो गई है.

हिमाचल प्रदेश के कई हिस्सों में लगातार बारिश जारी है. इस बीच राज्य के चम्बा जिले में बादल फटने के चलते अचानक आई बाढ़ में एक व्यक्ति बह गया. मौसम विभाग ने बताया कि नाहन के बाद बंजर सबसे अधिक बारिश वाला स्थान रहा. बंजर में कल से 77 मिमी और नाहन में 73 मिमी बारिश हुई, सलूनी में 46 मिमी, पालमपुर में 45 मिमी, धर्मशाला में 37 मिमी, बैजनाथ में 35 मिमी, भोरंज में 34 मिमी और खेड़ी में 27 मिमी बारिश है.

ओडिशा के रायगढ़ा और कालाहांडी जिलों में स्थिति में सुधार के बाद राहत एवं बचाव अभियान ने जोर पकड़ा. ओडिशा में अचानक आई बाढ़ के कारण दो लोगों के मरने और 40 हजार से अधिक लोगों के फंसे होने की रिपोर्ट है.

राष्ट्रीय राजधानी के भी कई हिस्सों में भारी बारिश हुई जिससे यातायात बाधित हुआ और सप्ताह के पहले ही दिन कई इलाकों में जलभराव की समस्या पैदा हो गई. उत्तर प्रदेश में कई इलाकों में मानसून की बारिश के कारण गंगा, शारदा और घाघरा समेत कई प्रमुख नदियों में जलस्तर खतरे के निशान के ऊपर पहुंच गया है.

वीडियो- असम में बाढ़ से बदतर हालात


मौसम विभाग के अधिकारियों ने ओडिशा तथा तटीय आंध्र प्रदेश में दूर दराज के इलाकों में ‘‘अत्यधिक भारी बारिश’’ का पूर्वानुमान जताया है. गोवा, छत्तीसगढ़, तेलंगाना, नगालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, महाराष्ट्र और कर्नाटक में भी भारी बारिश का पूर्वानुमान है.
(इनपुट एजेंसियों से)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement