NDTV Khabar

शिक्षा संस्थानों में जातीय भेदभाव खत्म करने के लिए रोहित वेमुला और पायल तड़वी की मांओं ने लगाई गुहार

सुप्रीम कोर्ट में याचिका, विश्वविद्यालय और अन्य उच्च शैक्षणिक संस्थानों में सभी छात्रों शिक्षकों को समान अवसर मुहैया करवाने के लिए विशेष सेल बनाई जाएं

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शिक्षा संस्थानों में जातीय भेदभाव खत्म करने के लिए रोहित वेमुला और पायल तड़वी की मांओं ने लगाई गुहार

सुप्रीम कोर्ट.

नई दिल्ली:

कॉलेज में जातिगत भेदभाव को जिम्मेदार बताकर आत्महत्या करने वाले रोहित वेमुला और पायल तड़वी की मांओं ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर गुहार लगाई है कि शैक्षणिक और अन्य संस्थानों में जातिगत भेदभाव खत्म करने का सशक्त और कारगर मैकेनिज़्म बनाया जाए.

टिप्पणियां

याचिकाकर्ता चाहती हैं कि कोर्ट यूजीसी को इस बाबत निर्देश जारी करे ताकि उच्च शैक्षिक संस्थानों के नियमन 2012 को सख्ती से लागू किया जा सके.


याचिका में यह भी गुहार लगाई गई है कि विश्वविद्यालय और अन्य उच्च शैक्षणिक संस्थानों में सभी छात्रों शिक्षकों को समान अवसर मुहैया करवाने के लिए विशेष सेल बनाएं. इससे अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों, शिक्षकों या कर्मचारियों के साथ भेदभाव की आंतरिक शिकायतों के समय से निपटारे में मदद होगी.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement