MP में सियासी घमासान के बीच बोले दिग्विजय सिंह- हमें बताया गया ज्योतिरादित्य सिंधिया को स्वाइन फ्लू है, इसलिए नहीं कर पा रहे बातचीत

मुख्यमंत्री कमलनाथ की बैठक में 28 में से क़रीब 20 मंत्री पहुंचे थे. और इन सभी मंत्रियों ने कमलनाथ को सामूहिक इस्तीफ़ा सौंपा.

MP में सियासी घमासान के बीच बोले दिग्विजय सिंह- हमें बताया गया ज्योतिरादित्य सिंधिया को स्वाइन फ्लू है, इसलिए नहीं कर पा रहे बातचीत

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह. (फाइल फोटो)

भोपाल:

मध्य प्रदेश में चल रही सियासी फेरबदल के बीच कांग्रेस का ज्योतिरादित्य सिंधिया से संपर्क नहीं हो पा रहा है. कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह का कहना है कि सिंधिया को 'स्वाइनफ्लू' हो गया है. इसलिए उनसे बातचीत नहीं हो पा रही है. दिग्विजय सिंह ने कहा, 'हमने उनसे बात करने की कोशिश की, लेकिन हमें कहा गया कि उन्हें स्वाइन फ्लू है, इसलिए वे बात नहीं कर पाएंगे.' मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री सिंह ने कहा, 'जो भी मध्य प्रदेश में जनादेश का अपमान करने की कोशिश करेगा, उसे जनता मुंहतोड़ जवाब देगी. अगर आप मुझसे पूछते हैं तो ऑल इज वेल.' साथ ही उन्होंने कहा, 'जो सही कांग्रेस है, वो कांग्रेस में ही रहेगा.'

सोमवार शाम को मध्य प्रदेश सियासत में फिर हलचल शुरू हो गई. कांग्रेस और भाजपा दोनों पार्टियों के नेताओं ने बैठक की. यह बैठक छह मंत्रियों सहित कांग्रेस के 17 विधायकों के बेंगलुरू चले जाने के बाद हुई. जितने विधायक बेंगलुरु गए हैं, वे सभी सिंधिया खेमे के बताए जा रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक सिंधिया अभी दिल्ली में हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक वह भारतीय जनता पार्टी के साथ भी जा सकते हैं. 

MP में बड़ा सियासी फेरबदल: 20 मंत्रियों ने दिया सामूहिक इस्तीफा, बैठक से नदारद रहे आठ मंत्री, पढ़ें 10 बड़ी बातें

वहीं, मध्य प्रदेश में सियासी ड्रामे के बीच अधिकतर मंत्रियों ने इस्तीफ़ा दे दिया है. कहा जा रहा है कि ये इस्तीफ़े मंत्रिमंडल विस्तार की योजना के तहत लिए गए हैं लेकिन इसे टाइम बाय यानी सरकार को बचाए रखने और विधायकों को एकजुट करने के लिए वक्त हासिल करने की कोशिश के तौर पर भी देखा जा रहा है. मुख्यमंत्री कमलनाथ की बैठक में 28 में से क़रीब 20 मंत्री पहुंचे थे. और इन सभी मंत्रियों ने कमलनाथ को सामूहिक इस्तीफ़ा सौंपा. सिंधिया खेमे के 17 विधायकों के बेंगलुरु चले जाने के बाद कमलनाथ सरकार का संकट बढ़ गया है. वहीं कमलनाथ ने कहा है कि माफ़िया की मदद से सरकार गिराने की कोशिश कर रहे हैं हम उनकी कोशिश सफल नहीं होने देंगे. 

मिशन मध्यप्रदेश को लेकर अमित शाह ने की बैठक, ज्योतिरादित्य सिंधिया को केंद्र में मंत्रीपद का ऑफर- सूत्र

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

मध्यप्रदेश विधानसभा में 230 सीटें हैं, जिनमें से वर्तमान में दो खाली हैं. इस प्रकार वर्तमान में प्रदेश में कुल 228 विधायक हैं, जिनमें से 114 कांग्रेस, 107 भाजपा, चार निर्दलीय, दो बहुजन समाज पार्टी एवं एक समाजवादी पार्टी का विधायक शामिल हैं. कमलनाथ के नेतृत्व वाली मध्यप्रदेश की कांग्रेस सरकार को इन चारों निर्दलीय विधायकों के साथ-साथ बसपा और सपा का समर्थन है.

वीडियो: मध्य प्रदेश में बड़ा सियासी फेरबदल