भोपाल: मॉस्‍क नहीं पहना तो 'कोराना वॉरियर' के रूप में सेवा देनी होगी, 'यमराज' दे रहे नियमों का पालन करने की सलाह

'यमराज' का वेश धरे अविनाश चौहान ने बताया, 'मैं लोगों को समझा रहा हैं, घर से निकलने से पहले मास्क या रूमाल-गमछे का इस्तेमाल (Wear masks or use face covers)करें जिससे खुद भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे.

भोपाल: मॉस्‍क नहीं पहना तो 'कोराना वॉरियर' के रूप में सेवा देनी होगी, 'यमराज' दे रहे नियमों का पालन करने की सलाह

'यमराज' का वेश धरकर कोरोना से बचने के लिए लोगों को मास्‍क पहनने की सलाह दी जा रही है

भोपाल :

Coronavirus Pandemic: मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh)की राजधानी भोपाल (Bhopal) में रविवार को 102 नए कोरोना मरीज मिले, यह अब तक का एक दिन का सबसे बड़ा आंकड़ा है. इससे एक दिन पहले 95 मरीज मिले थे. शहर में अब तक कोरोना के 3823 मामले सामने आ चुके हैं.आलम यह है कि शहर के हर हिस्से में संक्रमित मिल रहे हैं. तेजी के बढ़ते आंकड़ों और लोगों में बढ़ती लापरवाही के मद्देनजर प्रशासन ने फैसला किया है, जो मास्क नहीं पहनेगा, नियम तोड़ेगा उससे बतौर कोरोना वॉरियर (Coronavirus warrior) सेवाएं ली जाएंगी.कुछ दिनों पहले ऐसा ही फैसला ग्वालियर में हुआ था.मध्‍य प्रदेश की राजधानी में कोरोना के बढ़ते मामले के बीच सड़कों पर 'यमराज' (Yamraj) हैं, वे लोगों को नियमों का पालन करने और मास्‍क पहनने की सलाह दे रहे हैं, लेकिन कुछ लोग नियम तोड़कर भी बेशर्मी दिखा रहे हैं.

'यमराज' का वेश धरे अविनाश चौहान ने बताया, 'मैं लोगों को समझा रहा हैं, घर से निकलने से पहले मास्क या रूमाल-गमछे का इस्तेमाल (Wear masks or use face covers)करें जिससे खुद भी सुरक्षित रहेंगे और दूसरे भी सुरक्षित रहेंगे. उन्‍होंने कहा, 'यमराज' के रूप में जब समझाइश देता हूं तो कई लोग डरते हैं, कुछ सुनते भी हैं. कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर सख्‍ती बरतते हुए जगह-जगह पुलिसकर्मी लोगों की चेकिंग कर रहे हैं. उनके साथ सड़क पर स्‍वयंसेवी भी हैं, सबकी कोशिश यही हैकि लोग कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें.


सूबेदार विनायक सोनी ने बताया, दिनभर में हम बिना मास्क के 10-12 चालान बना रहे हैं, कैमरे से भी लोगों के चालान कट रहे हैं. 'आवाज़' के निदेशक प्रशांत दुबे कहते हैं, 'हम लोग ऐसे लोगों को, जो मास्क नहीं लगा रहे हैं, समझाश दे रहे हैं, भोपाल में 30-40 फीसदी लोग मास्क नहीं लगा रहे हैं.ऐसे लोगों को मास्क डिस्ट्रीब्यूट कर रहे हैं, गाड़ी में ऐसे संदेश भी हैं कि हिंसा ना करें. अपने रुख में और सख्‍ती लाते हुए प्रशासन अब उन दुकानदारों पर कार्रवाई भी करेगा जिनके यहां सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो रहा है, उन्हें भी कोरोना वॉरियर्स की तरह काम करना पड़ सकता है. भोपाल कलेक्‍टर अविनाश लवानिया ने कहा, 'उस दिन के व्यक्ति को कोरोना वारियर्स की ड्यूटी में शामिल करेंगे, उस दुकान को 3 दिन के लिये बंद कर देंगे. हम यह दोनों दंड भी एक साथ दे सकते हैं.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


राज्य में हर रविवार को तो अब लॉकडाउन का ऐलान कर ही दिया गया है. सूत्र बता रहे हैं कि जिन इलाकों में संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है, वहां कंटेनमेंट घोषित कर तीन-चार दिनों के लिए लॉकडाउन भी किया जा सकता है.जिन दुकानों में कोविड एसओपी का पालन नहीं हो रहा है उन्हें सील भी किया जा सकता है.