Jio Platforms में 7.7% हिस्सेदारी के लिए Google करेगा 33,737 करोड़ रुपए का निवेश: मुकेश अंबानी

Google रिलायंस के वेंचर Jio Platforms में 33,737 करोड़ रुपए का निवेश करेगा. गूगल जियो प्लेटफॉर्म्स में 33,737 करोड़ का निवेश करके कंपनी में 7.7 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदेगा.

Jio Platforms में 7.7% हिस्सेदारी के लिए Google करेगा 33,737 करोड़ रुपए का निवेश: मुकेश अंबानी

गूगल मुकेश अंबानी की जियो प्लेटफॉर्म्स में 33,737 करोड़ का निवेश करेगा. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • Google जियो प्लेटफॉर्म्स में करेगा निवेश
  • 7.7 फीसदी के लिए लगाएगा 33,737 करोड़
  • पिछले तीन महीनों में कंपनी में 14वीं कंपनी का निवेश
मुंबई:

Reliance Industries के 43वें AGM (Annual General Meeting) में बुधवार को कंपनी के चैयरमैन मुकेश अंबानी ने घोषणा की इंटरनेट की दिग्गज कंपनी Google रिलायंस के वेंचर Jio Platforms में 33,737 करोड़ रुपए का निवेश करेगा. गूगल जियो प्लेटफॉर्म्स में 33,737 करोड़ का निवेश करके कंपनी में 7.7 फीसदी की हिस्सेदारी खरीदेगा. बता दें कि Jio Platforms रिलायंस इंडस्ट्रीज़ का डिजिटल सर्विस वेंचर है, जिसके तहत टेलीकॉम कंपनी Reliance Jio Infocomm आता है. गूगल का यह निवेश 22 अप्रैल के बाद से अबतक कंपनी में 14वां निवेश है. इसके पहले Facebook और Qualcomm सहित कई प्राइवेट इक्विटी फर्म्स ने कंपनी में पैसे लगाए हैं. 

मुकेश अंबानी ने कंपनी के AGM के दौरान कहा कि 'हम गूगल का जियो प्लेटफॉर्म्स में रणीनीतिक निवेशक के तौर पर स्वागत करते हैं. हमने गूगल के साथ पार्टनरशिप की है और समझौते के तहत गूगल जियो प्लेटफॉर्म्स में 7.7 फीसदी हिस्सेदारी के लिए 33,737 करोड़ का निवेश करेगा.' उन्होंने कहा कि इसके साथ ही रिलायंस ने पिछले तीन महीनों से भी कम वक्त में 2,12,809 तक का क्युमुलेटिवं फंड जुटा लिया है. 

यह खबर तब आई है जब अभी सोमवार को ही गूगल ने घोषणा की थी कि वो अगले पांच से सात सालों में भारत में डिजिटल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में 10 बिलियन डॉलर यानी 70 हजार करोड़ के आस-पास निवेश करेगा. गूगल की पैरेंट कंपनी  Alphabet Inc. के सीईओ सुंदर पिचई ने कहा था कि कोरोनावायरस महामारी के चलते बिजनेस और निजी तौर पर टेक्नोलॉजी की अहमियत को बड़े स्तर पर समझा गया है. 

अंबानी ने कंपनी की कुल संपत्ति के कर्जमुक्त होने का भी जिक्र किया. उन्होंने कहा कि रिलायंस कंपनी की ओर से रखी गई मार्च, 2021 की डेडलाइन से काफी पहले ही कंपनी ज़ीरो कर्ज वाली कंपनी बन गई है. उन्होंने कहा, 'कंपनी का बैलेंस शीट अभी बहुत मजबूत है, जिससे इसके हाइपर-ग्रोथ इंजन- Jio, Retail और O2C के ग्रोथ में मदद मिलेगी.'  

(PTI से इनपुट के साथ)

Video: Jio-Facebook Deal: फेसबुक ने खरीदी जियो प्लेटफार्म्स की 9.99% हिस्सेदारी

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com