NDTV Khabar

मुंबई में गिरी दशकों पुरानी इमारत: 14 लोगों की मौत, कई लोगों के फंसे होने की आशंका

इमारत जहां गिरी वहां रास्ता संकरा होने की वजह से राहत और बचाव में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा. सुबह 11 बजकर 40 मिनट के करीब 4 मंजिला इमारत केसरबाई भरभराकर गिर गई. आसपास के लोगों को लगा कि जैसे भूकम्प आ गया हो.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मुंबई के डोंगरी में गिरी 4 मंजिला इमारत
  2. 40 से 50 लोग फंसे होने की आशंका
  3. एनडीआरएफ की टीम बचावकार्य में जुटी
नई दिल्ली:

दक्षिण मुंबई के डोंगरी इलाके में मंगलवार को एक चार मंजिला इमारत भरभराकर गिर गयी. बताया गया कि ईमारत के मलबे में 40 से 50 लोग फंसे हो सकते हैं. इस हादसे में मरनेवालों की संख्‍या 14 हो गई है जबकि अब भी कई लोग मलबे  में फंसे हैं. इमारत जहां गिरी वहां रास्ता संकरा होने की वजह से राहत और बचाव में बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ा. सुबह 11 बजकर 40 मिनट के करीब 4 मंजिला इमारत केसरबाई भरभराकर गिर गई. आसपास के लोगों को लगा कि जैसे भूकम्प आ गया हो. चारों तरफ कोहराम मच गया. सूचना मिलते ही पुलिस, बीएमसी और दमकलकर्मियों ने पहुचकर बचाव कार्य शुरू किया. लेकिन दिक्कत ये कि संकरी गलियों की वजह से जेसीबी और दूसरे वाहन और उपकरण मौके तक पहुंच नही पाए. लिहाज़ा हाथों से ही मलबा निकालना पड़ रहा था. मलबा हटाने में आसपास के लोगों ने मदद की, एक मानव श्रृंखला बनाकर एक-एक कर मलबा बाहर निकाला जा रहा था. शाम तक मलबे में दबे कई लोगों को बाहर निकाला गया. कई रिश्तेदार भी मौके पर पहुंच लोगों को तलाशते रहे.

सवाल सरकार पर उठा. मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने बताया कि इमारत 100 साल की पुरानी थी. उसके रिडेवलपमेंट के लिए बात चल रही थी. पता चला कि केसरबाई - 2 इमारत को भी साल 2017 में ही नोटिस दिया गया था लेकिन लोगों ने खाली नहीं किया था. उससे लगती इमारत केसरबाई - 1 भी जर्जर है और कभी भी गिर सकती है. उसे ज्यादातर लोगों ने खाली कर दिया है लेकिन कुछ लोग अब भी उसमे रहने को मजबूर हैं.


हादसे के बाद आस-पास के लोग व एनडीआरएफ की टीम बचावकार्य में जुटे हुए हैं. बिल्डिंग में करीब 15 परिवार रहता था. फायर टेंडर की कई गाड़ियां मौके पर मौजूद हैं. जख्मी लोगों को अस्पताल ले जाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया है. यहां एंबुलेंस की कई गाड़ियां मौजूद हैं. आला अधिकारी व पुलिसकर्मी घटनास्थल पर पहुंचे हैं. वीडियो में देखा जा सकता है कि एनडीआरएफ टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन जारी कर रखा है और स्थानीय लोगों के साथ मिलकर मलबे को बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हैं. रेस्क्यू टीम ज्यादा से ज्यादा लोगों को जिंदा बचाने के लिए प्रयास में हैं. पतली गलियां होने की वजह से बड़ी मशीनें अंदर नहीं आ सकती.

बाढ़ से अब तक 44 की मौत, 70 लाख लोग प्रभावित : राहुल गांधी ने ऐसी तस्वीरें शेयर कर कांग्रेस कार्यकर्ताओं से की मदद की अपील

बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) के आपदा प्रबंधन प्रकोष्ठ के एक अधिकारी ने बताया कि प्रारंभिक सूचना के अनुसार डोंगरी में टंडेल मार्ग पर स्थित भूतल के अतिरिक्त चार मंजिल वाली यह‘केशरबाई बिल्डिंग' सुबह करीब 11 बजकर 40 मिनट पर गिर गयी. उन्होंने बताया कि इमारत में रहने वाले करीब 40-50 लोगों के मलबे में फंसे होने की आशंका है. बचाव कार्य में मदद के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की टीम भी मौके पर पहुंच गयी है.

5kpf21l

4 मंजिला इमारत गिरने पर पहुंची एनडीआरएफ की टीम 

0dqdn86g

स्थानीय लोग एनडीआरएफ की टीम के साथ मिलकर बचावकार्य में जुटे हैं

टिप्पणियां

इस हादसे ने एक बार फिर मुंबई में इमारतों में रहने वालो की सुरक्षा पर सवाल उठा दिया है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement