कानपुर में पकड़ा गया 'डॉक्टर बम' जलीस अंसारी, यूपी पुलिस के एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

मुंबई सीरियल ब्लास्ट 1993 के दोषी और 'डॉक्टर बम' के नाम से पहचाने जाने वाला अपराधी जलीस अंसारी को यूपी पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है.

कानपुर में पकड़ा गया 'डॉक्टर बम' जलीस अंसारी, यूपी पुलिस के एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

मुंबई सीरियल ब्लास्ट 1993 का दोषी जलीस अंसारी- फाइल फोटो

लखनऊ:

मुंबई सीरियल ब्लास्ट 1993 का दोषी और 'डॉक्टर बम' के नाम से पहचाने जाने वाला अपराधी जलीस अंसारी को यूपी पुलिस के स्पेशल टास्क फोर्स (STF) ने कानपुर से गिरफ्तार कर लिया है. सीरियल ब्लास्ट के दोषी जलीस अंसारी जो परोल पर बाहर था और उसके परिवार ने मुंबई में गुरुवार को लापता होने की शिकायत दर्ज की थी. उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि जलीस अंसारी को तब पकड़ा गया, जब वह कानपुर के एक मस्जिद से वापस लौट रहा था. अब उसे लखनऊ ले जाया जाएगा. यूपी पुलिस के लिए यह बड़ी उपलब्धि है.

मालूम हो कि 68 साल का दोषी जलीस अंसारी उर्फ डॉक्टर बम साल 1993 में हुए सीरियल ब्लास्ट का दोषी था. अंसारी स्थायी रूप से यूपी के संत कबीर नगर जिले का निवासी है. पुलिस का कहना है कि अंसारी नेपाल के रास्ते से देश से भागने की फिराक में था. उन्होंने कहा, एसटीएफ के वरिष्ठ अधिकारी को गुप्त सूचना मिलने पर गिरफ्तार किया गया. अंसारी उम्रकैद की सजा काट रहा है और उस पर देश भर में कई बम विस्फोट मामलों में शामिल होने का संदेह है. अधिकारियों ने कहा कि अंसारी कथित तौर पर सिमी और इंडियन मुजाहिदीन जैसे आतंकी संगठनों से जुड़ा था और आतंकी गुटों को बम बनाना सिखाता था.

Newsbeep

समाचार एजेंसी पीटीआई ने अधिकारियों के हवाले से बताया कि अंसारी राजस्थान के अजमेर केंद्रीय कारागार से तीन सप्ताह के लिए पैरोल पर था और शुक्रवार को आत्मसमर्पण करने की उम्मीद थी.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


पैरोल की अवधि के दौरान, उन्हें अपनी उपस्थिति को चिह्नित करने के लिए रोजाना सुबह 10.30 से 12 बजे के बीच अग्रीपाड़ा पुलिस स्टेशन में उपस्थिति दर्ज करने का आदेश दिया गया था. हालांकि, अंसारी गुरुवार को पुलिस स्टेशन नहीं गया था. (इनपुट पीटीआई से भी)