मुंबई में सीवर के पानी में मिला कोरोनावायरस, ICMR की शुरुआती स्टडी में खुलासा

Mumbai Coronavirus: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में सीवर के पानी में कोरोनावायरस पाया गया है. धारावी समेत 6 जगहों से सीवर के पानी का सैंपल लिया गया था. सभी सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं.

खास बातें

  • मुंबई में सीवर के पानी में मिला कोरोना
  • धारावी समेत 6 वार्डों से लिए गए थे सैंपल
  • सभी सैंपल पॉज़िटिव पाए गए हैं
मुंबई:

देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के कुल मामले 99 लाख के पार पहुंच गए हैं. कोरोना वैक्सीन को लेकर देश में तैयारियां चल रही हैं. इस बीच, महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई (Mumbai) में सीवर के पानी कोरोनावायरस पाया गया है. धारावी समेत मुंबई के 6 वार्डों से सीवर का पानी एकत्र किया गया था.  इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की शुरुआती स्टडी में मुंबई के सीवर के पानी में कोरोनावायरस पाया गया. यह सैंपल 11 मई से 22 मई के बीच लिए गए थे. 

छह वार्डों से लिए गए सभी सैंपल पॉजिटिव पाए गए हैं जबकि 16 मार्च से पहले लिए गए सभी सैंपल निगेटिव पाए गए थे. यह स्टडी सुझाव देती है कि कोरोनावायरस ट्रांसमिशन के डेटा लिए सीवेज सर्विलांस भी शुरू किया जाना चाहिए. यह सैंपल वडाला, धारावी, कुर्ला, शिवाजी नगर, मलाड और कंजूर से लिये गए थे. 


बता दें कि वायरस के नए होने की वजह से इसके सभी पहलुओं पर गौर किया जा रहा है. अभी तक यह भी पता चला है कि कोरोना संक्रमित मरीज़ों के मल में भी वायरस आ जाता है. शुरुआत में ऐसे खबरें आई थीं कि सीवर के पानी में भी वायरस हो सकता है. जिसके बाद स्टडी शुरू की गई थी. शुरुआती स्टडी में सुझाया गया है कि सीवर के पानी में भी कोरोनावायरस जीवित रह सकता है. सीवर में सफाई के लिए उतरने वाले लोगों में इससे संक्रमण फैल सकता है.  

वीडियो: कोरोना के मरीजों के लिए जानलेवा बन रहा फंगल इन्फेक्शन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com