NDTV Khabar

मुस्लिम बुद्धिजीवियों की मांग, अयोध्या में विवादित जमीन राम मंदिर के लिए दे दी जाए

देश के तमाम मुस्लिम बुद्धिजीवियों ने लखनऊ में 'इंडियन मुस्लिम्स फॉर पीस' के बैनर तले सम्मेलन आयोजित किया

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुस्लिम बुद्धिजीवियों की मांग, अयोध्या में विवादित जमीन राम मंदिर के लिए दे दी जाए

अयोध्या के विवादित स्थल का फाइल फोटो.

खास बातें

  1. कहा- कोर्ट से यदि जमीन मुस्लिमों को मिल जाए तो वह हिंदुओं को भेंट कर दें
  2. दूसरों के जज़्बात का ख़याल रखेंगे तभी वे आपके जज़्बात का ख़याल रखेंगे
  3. मुस्लिमों के इस कदम से देश में सद्भावना का माहौल बनेगा
लखनऊ:

संस्था 'इंडियन मुस्लिम्स फॉर पीस' के बैनर तले देश के तमाम मुस्लिम बुद्धिजीवियों ने लखनऊ में एक सम्मेलन आयोजित किया. इस सम्मेलन में मुस्लिम बुद्धिजीवियों ने मांग की कि अयोध्या (Ayodhya) में विवादित जमीन भगवान राम का मंदिर बनाने के लिए दे दी जाए. इससे देश में सद्भावना का माहौल बनेगा. दूसरों के जज़्बात का ख़याल रखने पर  ही वे आपके जज़्बात का ख़याल रखेंगे. गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या केस की सुनवाई चल रही है. सुनवाई 17 अक्टूबर तक होगी और नवंबर में इस मामले में फैसला आएगा. इससे पहले मुस्लिम बुद्धिजीवियों की यह पहल काफी अहमियत रखती है.

इस सम्मेलन में मशहूर अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के बड़े भाई लेफ्टिनेंट जनरल जमीरुद्दीन शाह, मशहूर कार्डियोलाजिस्ट पद्मश्री डॉ मंसूर हसन, ब्रिगेडियर अहमद अली, पूर्व आईएएस अनीस अंसारी, रिज़वी, पूर्व आईपीएस पूर्व जज बीडी नकवी, डॉ कौसर उस्मान समेत बड़े पैमाने पर मुस्लिम बुद्धिजीवी शामिल हुए.

e02trv3

लेफ्टिनेंट जनरल जमीरुद्दीन शाह ने NDTV से कहा कि 'अदालत से बाहर बैठक कर विवादित जमीन मंदिर बनाने के लिए हिंदुओं को दे देना चाहिए. और अगर मुसलमानों को अदालत से वह जमीन मस्जिद के लिए मिल भी जाए तो भी उसे हिंदुओं को गिफ्ट कर देनी चाहिए.'

अयोध्या विवाद को बातचीत से सुलझाने के लिए मध्यस्थता की कोशिश फिर शुरू, मीटिंग हुई

ब्रिगेडियर अहमद अली ने NDTV से कहा कि 'मुल्क में बेहतर माहौल बनाने के लिए मुसलमानों को इतनी कुर्बानी जरूर देनी चाहिए क्योंकि आम हिंदू की आस्था है कि उसी जगह पर भगवान राम का जन्म हुआ था. जब आप दूसरों के जज़्बात का ख़याल रखेंगे तभी वे आपके जज़्बात का ख़याल रखेंगे.'

ilvb6oo4
टिप्पणियां

VIDEO : अयोध्या मामले में मध्यस्थता की गुजारिश



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement