अब मुस्लिम समाज भी आरक्षण के लिए आंदोलन करने पर विचार कर रहा

अब मुस्लिम समाज भी आरक्षण के लिए आंदोलन करने पर विचार कर रहा

कांग्रेस के विधायक और पूर्व मंत्री नसीम खान ने कहा- सरकार इस मसले पर चुप बैठी है..

खास बातें

  • मुस्लिम समाज भी आरक्षण के लिए आंदोलन करने पर विचार कर रहा
  • कई मुस्लिम सामाजिक संगठनों ने इस्लाम जिमखाना में मीटिंग की
  • कॉर्डिनेशन कमिटी बनाई गई जो समाज के दूसरे संगठनों से भी बात करेगी
मुंबई:

आरक्षण की मांग और एट्रोसिटी एक्ट के खिलाफ महाराष्ट्र में मराठा आंदोलन की सफलता को देखते हुए अब मुस्लिम समाज भी आरक्षण के लिए आंदोलन करने पर विचार कर रहा है. आंदोलन की भूमिका और रायशुमारी के लिए सोमवार को कई मुस्लिम सामाजिक संगठनों ने इस्लाम जिमखाना में मीटिंग लेकर चर्चा की.

मीटिंग में कांग्रेस के विधायक नसीम खान, अमिन पटेल, सपा के अबु आज़मी और एम आई एम के वरिष्ठ पठान भी शामिल हुए. अमन कमिटी के फरीद शेख ने बताया कि बैठक में  एक कॉर्डिनेशन कमिटी बनाई गई जो समाज के दूसरे सभी संगठनों से भी बात कर राय शुमारी करेगी. उसके बाद आंदोलन की रुपरेखा तैयार की जाएगी.

कांग्रेस के विधायक और पूर्व मंत्री नसीम खान ने बताया कि मौजूदा राज्य सरकार मुसलमानों में पिछड़े तबके के लोगों को 5 फीसदी आरक्षण पर चुप बैठी है. उसने मामले में  जानबूझकर देरी कर पिछले सरकार के अध्यादेश को निरस्त होने दिया. बैठक में मराठा आंदोलन को मुंबई में समर्थन देने पर भी चर्चा हुई.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com