NDTV Khabar

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सुप्रीम कोर्ट ने जांच पूरी करने के लिए CBI को दिया तीन महीने का समय

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जिन बच्चों के कंकाल बरामद हुए है, सीबीआई को इस बाबत जांच करनी है कि आखिर ये कंकाल किसके है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस: सुप्रीम कोर्ट ने जांच पूरी करने के लिए CBI को दिया तीन महीने का समय

सीबीआई ने मामले की जांच पूरी करने के लिए कोर्ट से छह महीने का समय मांगा था.

नई दिल्ली:

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम मामले में सुप्रीम कोर्ट ने जांच पूरी करने लिए सीबीआई को तीन महीने का समय दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने आरोपी बृजेश ठाकुर को झटका देते हुए कहा कि इस मामले में आरोपियों के पक्ष को कोर्ट नहीं सुनेगा. कोर्ट ने धारा-377, IT एक्ट और विजिटर जो लड़कियों का उत्पीड़न, ड्रग्स या ट्रैफिकिंग करते थे उनके बारे में भी जांच करने को कहा है. साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि जिन बच्चों के कंकाल बरामद हुए है, सीबीआई को इस बाबत जांच करनी है कि आखिर ये कंकाल किसके है. सीबीआई ने मामले की जांच पूरी करने के लिए कोर्ट से छह महीने का समय मांगा था.

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने 11 लडकियों की कथित हत्या के मामले में सीबीआई को 2 जून तक स्टेटस रिपोर्ट दाखिल करने को कहा था. सीबीआई की ओर से बताया गया कि 11 लडकियां गायब हैं जिनकी हत्या का संदेह है करीब 35 लडकियों के नाम एक जैसे हैं. सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई ने रिपोर्ट दाखिल की थी.

ब्रजेश ठाकुर और अन्य ने 11 लड़कियों की हत्या की, श्मशान घाट से 'हड्डियों की पोटली' बरामद: सुप्रीम कोर्ट में CBI का सनसनीखेज खुलासा


शेल्टर होम मामले में सीबीआई 11 हत्याओं की जांच कर रही है. सीबीआई ने कहा है शेल्टर होम में खुदाई में हड्डियां मिली है. मामले में हुई हत्या की अभी जांच जारी है. सीबीआई ने इस आरोप से इनकार किया है जिसमे कहा गया है कि मामले में शक्तिशाली और प्रभावशाली लोगों को बचाया जा रहा है. सीबीआई ने इस मामले में जांच पूरी करने के लिए और समय मांगा है. 

'मेरी लड़ाई जेल और बेल वालों से': गिरिराज सिंह बोल रहे थे, मंच पर हंस रही थीं मुजफ्फरपुर कांड में जमानत पर रिहा मंजू वर्मा

4 मई को केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने सुप्रीम कोर्ट में सनसनीखेज खुलासा करते हुए कहा था कि मुजफ्फरपुर आश्रय गृह यौन उत्पीड़न मामले के मुख्य आरोपी ब्रजेश ठाकुर और उसके सहयोगियों ने 11 लड़कियों की कथित रूप से हत्या की थी और एक श्मशान घाट से ‘हड्डियों की पोटली' बरामद हुई है. सुप्रीम कोर्ट में दायर अपने हलफनामे में सीबीआई ने कहा कि जांच के दौरान दर्ज पीड़ितों के बयानों में 11 लड़कियों के नाम सामने आये हैं जिनकी ठाकुर और उनके सहयोगियों ने कथित रूप से हत्या की थी.

मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस में CBI ने प्रभावशाली लोगों को बचाने के आरोप को नकारा

सीबीआई ने कहा कि एक आरोपी की निशानदेही पर एक श्मशान घाट के एक खास स्थान की खुदाई की गई जहां से हड्डियों की पोटली बरामद हुई है. गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर में एक एनजीओ द्वारा संचालित आश्रय गृह में कई लड़कियों का कथित रूप से बलात्कार और यौन उत्पीड़न किया गया था और टाटा सामाजिक विज्ञान संस्थान की रिपोर्ट के बाद यह मुद्दा उछला था.

टिप्पणियां

शिवानंद तिवारी का नीतीश पर हमला, लिखा - 'पापी है नीतीश कुमार की सरकार'

Video: शेल्टर होम से लड़कियां हुई गायब



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement