NDTV Khabar

CCD के मालिक सिद्धार्थ की मौत को लेकर चौंकाने वाला तथ्य, पोस्टमार्टम से सुलझेगी गुत्थी

वीजी सिद्धार्थ के गायब होने के लगभग 30 घंटे के बाद मेंगलुरु के पास नेत्रावती नदी में मिला उनका शव फूला क्यों नहीं?

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मेंगलुरु के पास नेत्रावती नदी के किनारे मछुआरों को मिला शव
  2. एसवी रंगनाथ सिद्धार्थ की जगह सीसीडी के नए अध्यक्ष बनाए गए
  3. कर्नाटक के पूर्व मुख्य सचिव और आईएएस अधिकारी रहे हैं रंगनाथ
बेंगलुरु:

कैफे कॉफी डे (CCD) के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव उनके गायब होने के लगभग 30 घंटे के बाद बुधवार को मेंगलुरु के पास नेत्रावती नदी में मिला. चौंकाने वाला तथ्य यह सामने आया है कि दो दिन से अधिक वक्त बीतने के बावजूद शव फूला नहीं था. यह वास्तव में अब गहन जांच का विषय है. दूसरी तरफ  कर्नाटक के पूर्व मुख्य सचिव और आईएएस अधिकारी एसवी रंगनाथ सिद्धार्थ की जगह सीसीडी के नए अध्यक्ष बनाए गए हैं.

कैफै कॉफी डे (सीसीडी) के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव करीब 30 घंटे के बाद मेंगलुरु के पास नेत्रावती नदी के किनारे होइगे बाजार के पास मछुआरों को मिला. उन्होंने शव को पानी की सतह पर हिचकोले खाते हुए देखा.  मछुआरा रीतेश डिसूजा ने बताया कि 'मैं जब मछली पकड़ने समुद्र में अपने दोस्तों के साथ जा रहा था तो हमने पानी मे एक शव देखा. उसे दो दोस्तों की मदद से किनारे लाए और पुलिस को सूचना दी.'

सिद्धार्थ का शव तो मिल गया लेकिन इसके साथ ही एक बड़ा सवाल उठ गया कि शव यदि पानी में ही 30 घंटे तक था तो उसे फूलना चाहिए था. इतनी समय बीतने पर भी शव फूला क्यों नहीं? इस गुत्थी को सुलझाने के लिए अब पुलिस की जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट काफी अहम होगा.


CCD के मालिक वीजी सिद्धार्थ का शव नदी किनारे मिला, दो दिन से थे लापता

वैसे सिद्धार्थ ने अपनी कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स को लिखे गए पत्र में आयकर के पूर्व महानिदेशक और एक निजी निवेशक कंपनी पर उंगली उठाई है. कैफे कॉफी डे ने बोर्ड की बैठक के बाद कर्नाटक के पूर्व मुख्य सचिव एसवी रंगनाथ को समूह का नया अध्यक्ष चुन लिया है. सीसीडी के चीफ फाइनेंस ऑफीसर राम मोहन ने कहा कि "मौजूदा हालात पर चर्चा के लिए हम साथ में बैठे.जल्द ही कंपनी को आगे बढ़ने के लिए हम एक योजना बनाएंगे.''

वीजी सिद्धार्थ का शव मिलने के बाद 20 प्रतिशत गिरा सीसीडी का शेयर

कर्नाटक और खासकर चिकमंगलूर की काफी के जायके से देश-विदेश को रूबरू कराने वाले कैफे कॉफी डे के संस्थापक सिद्धार्थ की दर्दनाक मौत आयकर अधिकारियों के काम करने के गैर प्रोफेशनल तौर तरीकों की तरफ साफ इशारा करती है. सवाल यह उठता है कि सिद्धार्थ का जो पत्र चर्चा में है, क्या पुलिस उसको सुसाइड नोट के तौर पर जांच का हिस्सा बनाएगी?

टिप्पणियां

VIDEO : नदी के किनारे मिला कैफे कॉफी डे के मालिक का शव



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement