NDTV Khabar

बीएसएफ की परीक्षा में टॉप करने वाले कश्मीरी युवक नबील अहमद वानी को आतंकियों की धमकी

वानी ने पिछले साल बीएसएफ कमांडेंट की परीक्षा में टॉप किया था. वानी इस वक्त ग्वालियर के नजदीक टेकमपुर में बीएसएफ ट्रेनिंग सेंटर में हैं जबकि उनकी बहन चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीएसएफ की परीक्षा में टॉप करने वाले कश्मीरी युवक नबील अहमद वानी को आतंकियों की धमकी

खास बातें

  1. बीएसएफ कमांडेंट की परीक्षा में टॉप किया था
  2. वानी ने सरकार को बताए हालात
  3. मंत्रालय ने की बहन की मदद
नई दिल्ली:

कश्मीर घाटी में लेफ्टिनेंट उमर फैयाज की कायराना हत्या के बाद अब आतंकियों के निशाने पर हैं बीएसएफ के अस्टिटेंट कमांडेट नबील अहमद वानी. दरअसल, वानी ने सरकार को पत्र लिखकर कहा कि उन्हें और उनकी बहन को आतंकी धमकी दे रहे हैं. वानी ने पिछले साल बीएसएफ कमांडेंट की परीक्षा में टॉप किया था. वानी इस वक्त ग्वालियर के नजदीक टेकमपुर में बीएसएफ ट्रेनिंग सेंटर में हैं जबकि उनकी बहन चंडीगढ़ में सिविल इंजीनियरिंग की छात्रा हैं और हॉस्टल में रह रही हैं. आतंकियों से मिल रही धमकी के बाद कॉलेज प्रबंधन चाहता है कि वह कहीं और चली जाएं.

टिप्पणियां

वानी का कहना है कि यह उनका व्यक्तिगत मामला है इसलिए वह इसमें बीएसएफ को शामिल नहीं करना चाहते. लिहाजा, उन्होंने मंत्रालय को ख़त लिखा कर अपनी बहन के लिए सुरक्षित हॉस्टल की व्यवस्था करने की बात कही. खास बात ये है कि वानी की चिठ्ठी के बाद मेनका गांधी ने तुरंत कार्रवाई करते हुए कॉलेज प्रबंधन से बात की जिसके बाद कॉलेज प्रबंधन उनकी बहन को हॉस्टल में रखने के लिए तैयार हो गया है.


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक- वानी ने कहा कि उन्होंने बीएसएफ में अपने वरिष्ठों से कहा कि जवानों को छुट्टी पर जाने के दौरान हथियार ले जाने की इजाजत मिले. खासतौर पर आतंकवाद प्रभावित इलाकों में. उन्होंने आगे कहा कि मेरे और मेरे परिवार के सदस्यों को हमेशा आतंकियों से धमकी मिलती रहती है. उमर फैयाज की हत्या के बाद मैं अपने परिवार की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं.मेरी मां जम्मू में अकेली रहती हैं जबकि बहन चंडीगढ़ में. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement