भारतीय सेना के 'नाग' रात के अंधेरे में भी दुश्मन के टैंको को कर देंगे नेस्तनाबूद

नाग पहली पांच रणनीतिक मिसाइलों में से एक थी जिसे 1980 के दशक में शुरू किए गए एकीकृत मिसाइल विकास कार्यक्रम के तहत विकसित करने की योजना थी.

भारतीय सेना के 'नाग' रात के अंधेरे में भी दुश्मन के टैंको को कर देंगे नेस्तनाबूद

नाग मिसाइलों के सेना में शामिल होने ताकत में काफी बढ़ावा होगा.

खास बातें

  • पोखरण में सफल रहे तीनों परीक्षण
  • सोमवार को भी होगा परीक्षण
  • जल्द सेना में हो सकती है शामिल
नई दिल्ली:

सेना में में नाग-एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइलों को शामिल करने की दिशा में एक कदम बढ़ाते हुए रविवार को पोखरण फायरिंग रेंज में इन मिसाइलों के तीन सफल परीक्षण किए गए. सेना, रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) द्वारा किए गए ये तीनों ही परीक्षण सफल रहे. डीआरडीओ के अधिकारियों ने कहा, "रविवार को दिन और रात दोनों के दौरान मिसाइलों का परीक्षण किया गया.  सभी तीन परीक्षण सफल रहे. " सरकारी सूत्रों ने बताया कि मिसाइल सेना में शामिल किए जाने के अंतिम चरण में है, जिन्हें  मोडिफाइड बख्तरबंद वाहनों के ऊपर लगाया जाएगा. 

भारत दुनिया में एकमात्र देश, जो लड़ाकू विमानों पर लंबी दूरी की मिसाइलों को कर सकता है एकीकृत

रक्षा अधिग्रहण परिषद ने पिछले साल 524 करोड़ रुपये में डीआरडीओ द्वारा डिजाइन और विकसित की गई नाग मिसाइल सिस्टम (एनएएमआईएस) की खरीद को  मंजूरी दी थी. इस प्रणाली में मिसाइल वाहक वाहन (NAMICA) के साथ तीसरी पीढ़ी के एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल नाग शामिल हैं.  तीसरी पीढ़ी की एंटी-टैंक गाइडेड नाग मिसाइलों में शीर्ष हमले की क्षमता होती है जो दिन और रात के दौरान दुश्मन के सभी ज्ञात टैंकों को नष्ट कर सकती हैं.

भारत ने परमाणु सक्षम मिसाइल पृथ्वी-दो का सफल परीक्षण किया

सेना में नाग मिसाइल के सफल रूप से शामिल होने से दुश्मन के खिलाफ सेना की क्षमता को काफी बढ़ावा मिलने की उम्मीद है.  फिलहाल मिसाइल की क्षमताओं को और अधिक परखने के लिए सोमवार को भी सेना और डीआरडीओ को मिसाइलों के और परीक्षण करने हैं. 

पाक के F-16 से मात खाने के बाद अब सुखोई को इजरायली मिसाइलों से लैस करेगी भारतीय वायुसेना

बता दें नाग पहली पांच रणनीतिक मिसाइलों में से एक थी जिसे 1980 के दशक में शुरू किए गए एकीकृत मिसाइल विकास कार्यक्रम के तहत विकसित करने की योजना थी.  परियोजना के तहत विकसित अन्य मिसाइलों में अग्नि, पृथ्वी और आकाश शामिल हैं. इन तीनों को सफलतापूर्वक परीक्षण के बाद पहले ही सशस्त्र बलों में शामिल किया जा चुका है. (इनपुट-एएनआई)

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

वीडियो: भारत ने किया पिनाका मिसाइल का सफल परीक्षण