NDTV Khabar

...अब गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने Google से की नारद मुनि की तुलना

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने दुनिया भर की जानकारी रखने में दक्षता के लिए गूगल की तुलना नारद से की है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
...अब गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने Google से की नारद मुनि की तुलना

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी. (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. 'नारद मुनि की गूगल से तुलना की जा सकती है'
  2. बिप्लब देब भी दे चुके हैं कई हास्यास्पद बयान
  3. बयान का सोशल मीडिया पर खूब उपहास बन रहा
अहमदाबाद: गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने दुनिया भर की जानकारी रखने में दक्षता के लिए गूगल की तुलना नारद से की है. इसके कुछ दिन पहले त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देव ने कुछ ऐसी ही एक टिप्पणी की थी जो खासी चर्चित हुई थी. देव ने कहा था कि महाभारत काल में भी इंटरनेट था.

यह भी पढ़ें : 'बयान वीर' बिप्लब देब : वो 4 बयान जो बने विवाद की वजह

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े विश्व संवाद केंद्र द्वारा रविवार को आयोजित एक कार्यक्रम में रूपाणी ने कहा, 'गूगल जानकारी का स्रोत है. नारद मुनि की गूगल से तुलना की जा सकती है, क्योंकि दुनिया के अलग-अलग कोनों में जो कुछ भी घटित हो रहा होता है, उनके बारे में उन्हें जानकारी रहती थी.'

यह भी पढ़ें : एक बार फिर बोले बिप्लब देब, 'सरकारी नौकरी के लिए नेताओं के पीछे नहीं भागें, पान की दुकान खोलें'

उन्होंने कहा कि नारद मुनि महाभारत काल में और समय-समय पर भगवान कृष्ण के बड़े भाई बलराम को खबर देते थे. रूपाणी ने कहा, 'हालांकि नारद मुनि ने कभी भी ऐसा कुछ नहीं किया, जिससे मानवता को नुकसान पहुंचता हो, इसीलिए हम उन्हें ऋषि मानते हैं. ऋषि वह व्यक्ति होता है जो मानवता के बारे में सकारात्मक सोचता हो और लोगों को प्रेरित करता हो.'

VIDEO : विवादित बयान से चर्चा में त्रिपुरा सीएम बिप्लब देब


टिप्पणियां
इस महीने की शुरुआत में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री ने कहा था कि प्राचीन समय में भारतीय इंटरनेट और उपग्रह प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते थे, पश्चिम में इनका ईजाद होने से भी हजारों वर्ष पहले. उनकी इस टिप्पणी का सोशल मीडिया पर खूब उपहास बना था.

(इनपुट : भाषा)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement