Khabar logo, NDTV Khabar, NDTV India

सातवें वाइब्रेंट गुजरात समिट में उद्योगपतियों ने किया गुजरात में लाखों करोड़ के निवेश का ऐलान

ईमेल करें
टिप्पणियां
सातवें वाइब्रेंट गुजरात समिट में उद्योगपतियों ने किया गुजरात में लाखों करोड़ के निवेश का ऐलान

वाइब्रेंट गुजरात में पीएम मोदी

गांधीनगर: सातवें वाइब्रेंट गुजरात समिट में भाग लेने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहुंच गए हैं। ये कार्यक्रम गुजरात की राजधानी गांधीनगर के महात्मा मंदिर में आयोजित किया जा रहा है। निवेश को बढ़ावा देने के मकसद से किए जाने वाले इस आयोजन में केंद्र सरकार के 11 मंत्री भी शामिल हो रहे हैं। इस समिट को लेकर गांधीनगर समेत पूरे गुजरात में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बांगा

मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बांगा

अमेरिकन कंपनी मास्टरकार्ड के सीईओ अजय बांगा ने कहा कि उनकी पढ़ाई अहमदाबाद में ही हुई है और वह खुद को गुजराती ही मानते हैं। उन्होंने कहा कि अमेरिका के तमाम निवेशक भारत में निवेश की संभावनाएं तलाश रहे हैं।
अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी के साथ पीएम मोदी
इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए अमेरिका के विदेश मंत्री जॉन केरी भी पहुंचे हैं। वहीं, संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बॉन की मून भी कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पहुंचे हैं। इस कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे विश्व बैंक के प्रमुख जिम किम योंग ने कहा कि अन्य तमाम उभरती अर्थव्यवस्थाओं में भारत निवेश के लिहाज से बेहतर विकल्प है।

लंदन की कंपनी रियो टिंटो ग्रुप के सीईओ सैम वाल्स ने अपने वक्तव्य में कहा कि वह राज्य में हीरे के तराशने के काम में 30 हजार नौकरियों का सृजन करेंगे।

आदित्य बिड़ला समूह के प्रमुख कुमार मंगलम बिड़ला ने इस मौके पर अपने संबोधन में कहा कि राज्य के साथ हमारे सपने जुड़े हैं। उन्होंने कहा कि राज्य की तरक्की के साथ हमारी भी तरक्की हुई है। बिड़ला ने यह भी कहा कि गुजरात हमारे लिए भी वरीयता वाला राज्य रहा है। बिड़ला ने कहा कि वह सीमेंट के क्षेत्र में 20 हजार करोड़ रुपये निवेश करेंगे।
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुकेश अंबानी
देश के जाने माने उद्योगपति मुकेश अंबानी ने गुजराती में कहा कि गुजरात मेरा गृहराज्य है। उन्होंने कहा कि हर गुजरात समिट पिछले से व्यापक होता जा रहा है और यहां हर बार आकर भाग्यशाली महसूस कर रहा हूं। उन्होंने कहा कि मेक इन इंडिया और डिजिटल इंडिया के कार्यक्रम ने भारत को नई ऊर्जा दी है। उन्होंने कहा कि गुजरात में निवेश कर हमेशा लाभ मिला है और उन्होंने निवेशकों से अपील की कि यहां पर निवेश कर लाभ उठाएं। अंबानी ने घोषणा की कि वह गुजरात में एक लाख करोड़ रुपये का निवेश करेंगे।

आज के कार्यक्रम की शुरुआत गुजरात की मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल द्वारा मेहमानों के स्वागत के साथ शुरू हुई। उन्होंने कहा कि गुजरात चाहता है कि यहां पर शिक्षा और स्वास्थ्य की सभी सुविधाएं उपलब्ध हों। कृषि, खाद्य प्रसंस्करण और दुग्ध क्षेत्र में गुजरात पहले ही अव्वल है। पटेल ने कहा कि आने वाले दो दिनों में यहां और विकास की बातें होंगी।

तीन दिन तक चलने वाले इस कार्यक्रम में संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून, अमेरिका के विदेशमंत्री जॉन कैरी, भूटान के प्रधानमंत्री शेरिंग तोग्बे और मेसोडेनिया के प्रधानमंत्री निकोला ग्रुवस्की समेत 35 देशों के 1829 प्रतिनिधि हिस्सा ले रहे हैं।

इसके अलावा करीब 29 देशों के विदेशमंत्री और 26 देशों के राजनयिक भी इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले देशों में से सबसे बड़ा प्रतिनिधि मंडल ब्रिटेन का है जिसके 167 से ज्यादा सदस्य हिस्सा ले रहे हैं। इसके अलावा जापान, ऑस्ट्रेलिया और सिंगापुर से भी 100 से भी ज्यादा प्रतिनिधियों का दल गांधीनगर पहुंचा है।


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement

 
 

Advertisement