NDTV Khabar

नवजोत सिंह सिद्धू बोले- आशा है भारत-पाक संबंधों के लिए PM के रूप में बेहतर साबित होंगे इमरान खान

भारत के पूर्व क्रिकेटर और नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज आशा जतायी कि उनके मित्र इमरान खान का पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनना पाकिस्तान-भारत शांति प्रक्रिया के लिए बेहतर साबित होगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
नवजोत सिंह सिद्धू बोले- आशा है भारत-पाक संबंधों के लिए PM के रूप में बेहतर साबित होंगे इमरान खान

इमरान खान के शपथ समारोह में शामिल हुए सिद्धू

नई दिल्ली: भारत के पूर्व क्रिकेटर और नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज आशा जतायी कि उनके मित्र इमरान खान का पाकिस्तान का प्रधानमंत्री बनना पाकिस्तान-भारत शांति प्रक्रिया के लिए बेहतर साबित होगा. नीले सूट और गुलाबी पगड़ी पहले सिद्धू इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में अन्य विशिष्ट अतिथियों के साथ मौजूद थे. इमरान खान ने आज ऐवान-ए-सद्र (पाकिस्तान के राष्ट्रपति भवन) में पद और गोपनीयता की शपथ ली.

इमरान के शपथ में पाक आर्मी चीफ से गले मिले सिद्धू, PoK के राष्ट्रपति के साथ बैठे आये नजर, बढ़ा विवाद

समारोह में पहुंचने के साथ ही पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा पहली पंक्ति के पास गये जहां सिद्धू अन्य अतिथियों के साथ बैठे थे. सिद्धू की साथ वाली कुर्सी पर पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर के राष्ट्रपति मसूद खान बैठे थे.  जनरल बाजवा सिद्धू से गले मिले और दोनों ने संक्षिप्त बातचीत की. दोनों मुस्कुरा रहे थे. बातचीत करने के बाद दोनों फिर से गले मिले. 

पाकिस्तान का नया कप्तान : पूर्व क्रिकेटर और PTI प्रमुख इमरान खान ने ली प्रधानमंत्री पद की शपथ

सरकारी ‘पीटीवी’ के साथ बातचीत में सिद्धू ने अपने चिर-परीचित शायराना अंदाज में खान की तारीफ की. पंजाब की कांग्रेस सरकार में मंत्री, सिद्धू ने कहा, ‘नयी सरकार के साथ पाकिस्तान में नया सबेरा जो देश की तकदीर बदल सकता है.’ भारतीय नेता सिद्धू ने आशा जतायी कि इमरान खान की जीत पाकिस्तान-भारत शांति प्रक्रिया के लिए बेहतर साबित होगी. 

इमरान खान पाकिस्तान के नये कप्तान : एक तरफ आतंकी तंजीम तो दूसरी ओर सेना का साथ, भारत के सामने 5 चुनौतियां

टिप्पणियां
पाकिस्तान से गतिविधियां चलाने वाले समूहों द्वारा 2016 में किये गये हमलों और पीओके में भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के कारण दोनों देशों के बीच रिश्त खराब हो गये थे. भारत के कथित जासूस कुलभूषण जाधव को पिछले साल अप्रैल में सैन्य अदालत द्वारा मौत की सजा सुनाये जाने के बाद संबंधों में और खटास आयी थी. सिद्धू वाघा सीमा के रास्ते शुक्रवार को लाहौर होते हुए इस्लामाबाद पहुंचे.
 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement