NDTV Khabar

गले लगने से पहले पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने नवजोत सिंह सिद्धू से कही थी ये बात

पाकिस्तान के सेना प्रमुख पहले भी यह बात कह चुके हैं लेकिन भारत में उन पर कोई विश्वास नहीं करता है क्योंकि पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को वहां की सेना को समर्थन है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गले लगने से पहले पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने नवजोत सिंह सिद्धू से कही थी ये बात

इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने नवजोत सिंह सिद्धू को गले लगाया था

खास बातें

  1. इमरान खान के शपथग्रहण में गये थे सिद्धू
  2. पंजाब सरकार में मंत्री हैं नवजोत सिंह सिद्धू
  3. पाक सेना प्रमुख ने लगाया था गले
नई दिल्ली: पाकिस्तान के नये प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथग्रहण समारोह में हिस्सा लेने गये नवजोत सिंह सिद्धू ने उम्मीद जताई है कि इस्लामाबाद में भारत को लेकर सकारात्मक बदलाव आयेगा. सिद्धू ने एनडीटीवी से खास बातचीत में कहा, 'वह(इमरान खान) सही दिशा में जाएंगे और सकारात्मक कोई भी चीज नकारात्मक चीजों से अच्छी होती है.' आपको बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू का पाकिस्तान में गर्मजोशी से स्वागत किया गया और उनको बड़े नेताओं के साथ बैठाया गया. लेकिन पाकिस्तान की सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा के गले मिलने के बाद से भारत में उनके खिलाफ नाराजगी है. 

नवजोत सिंह सिद्धू बोले- आशा है भारत-पाक संबंधों के लिए PM के रूप में बेहतर साबित होंगे इमरान खान

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा, 'यह कोई साधारण बात नहीं है. श्रीमान सिद्धू कोई सामान्य शख्स नहीं है वह पंजाब सरकार में मंत्री हैं. हर भारतीय ने इस बात को गंभीरता से लिया है. सिद्दू को जब पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के राष्ट्रपति के बगल में बैठाया गया तो उन्होंने इस पर आपत्ति क्यों नहीं जताई. राहुल जी क्या आपने श्रीमान सिद्धू को पाकिस्तान जाने की इजाजत दी थी क्या उनको तुरंत पार्टी से निकाला जायेगा.' संबित पात्रा ने पूछा कि जब वह पाकिस्तान के सेना प्रमुख को गले लगा रहे थे तो क्या उनको सीमा पर शहीद हुये सैनिकों की याद नहीं आई.'

इमरान के शपथ में पाक आर्मी चीफ से गले मिले सिद्धू, PoK के राष्ट्रपति के साथ बैठे आये नजर, बढ़ा विवाद

टिप्पणियां
हालांकि सिद्धू ने कहा कि वहां पर उनके तीनों सेना प्रमुख को आगे की सीट पर बैठे मेहमानों से मिल रहे थे. उसी दौरान पाकिस्तान के सेना प्रमुख जनरल बाजवा आये और हमारे बीच बातचीत शुरू हो गई. सिद्धू के मुताबिक जनरल ने कहा, 'मैं जनरल हूं लेकिन क्रिकेटर बनना चाहता था.' इसके बाद बातचीत में गंभीरता आ गई. पाक सेना प्रमुख ने कहा, 'नवजोत हम शांति चाहते हैं.' सिद्धू ने बताया कि पाक सेना प्रमुख ने कहा कि इस्लामाबाद गुरुनानक के 500वीं जयंती पर करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब के लिये रास्ता खोल दिया जायेगा. उन्होंने यह भी कहा कि हम इससे भी अच्छा कुछ करने पर विचार करेंगे. गौरतलब है कि सिख संगठन काफी समय से गुरुद्वारा दरबार साहिब को लेकर भारत सरकार से पाकिस्तान से बातचीत के लिये कह रहे थे. 
पूर्व क्रिकेटर और PTI प्रमुख इमरान खान ने ली प्रधानमंत्री पद की शपथ​

हालांकि पाकिस्तान के सेना प्रमुख पहले भी यह बात कह चुके हैं लेकिन भारत में उन पर कोई विश्वास नहीं करता है क्योंकि पाकिस्तान की ओर से जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद को वहां की सेना को समर्थन है. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement