NDTV Khabar

पुलवामा आतंकी हमले पर बोले नवजोत सिंह सिद्धू: क्या कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है

पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने 350 किलोग्राम विस्फोटक से लदे एक वाहन से पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पुलवामा आतंकी हमले पर बोले नवजोत सिंह सिद्धू: क्या कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है

पुलवामा आतंकी हमले पर नजवोत सिंह सिद्धू का बयान (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

जम्मू कश्मीर के पुलवामा (Pulwama Terror Attackमें पाकिस्तानी आतंकवादी संगठन के ‘‘कायरतापूर्ण'' हमले की कड़ी निंदा करते हुए पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शुक्रवार को पूछा कि क्या कुछ लोगों की करतूत के लिए पूरे देश को जिम्मेदार ठहराया जा सकता है. जम्मू कश्मीर में सबसे घातक आतंकवादी हमलों में से एक में गुरुवार को सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए. पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती हमलावर ने 350 किलोग्राम विस्फोटक से लदे एक वाहन से पुलवामा जिले में सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी. बता दें कि इस हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पद पर इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने वाले क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू ने कहा, 'कुछ लोगों के लिए क्या आप पूरे देश को जिम्मेदार ठहरा सकते है और क्या आप किसी व्यक्ति को जिम्मेदार ठहरा सकते हो?' आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ जवानों की मौत के प्रति एकजुटता दिखाते हुए पंजाब विधानसभा की कार्यवाही स्थगित होने के बाद सिद्धू ने यहां पत्रकारों से कहा, ‘‘यह कायरतापूर्ण कार्रवाई है और मैं सख्ती से इसकी निंदा करता हूं. हिंसा हमेशा निंदनीय है और जिन लोगों ने यह किया उन्हें सजा मिलनी चाहिए.'


पुलवामा हमला : शहीदों में सबसे ज्यादा यूपी के जवान, परिजनों को 25 लाख और एक नौकरी देने का एलान

आपको बता दें कि पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू उस समय निशाने पर आ गए थे जब वह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में हिस्सा लेने पहुंच गए थे. वहीं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने जाने से इन्कार कर दिया था. वहीं सिद्धू के इस फैसले पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी असहमति जताई थी. लेकिन शपथ ग्रहण समारोह में जब सिद्धू और पाकिस्तान के सेना प्रमुख ने एक दूसरे को गले लगाया तो यह तस्वीर भी विवाद का विषय बन गई. 

 बातें याद कर रो रहा है गांव, शहीद की बेटी बोली- अब नेता बड़ी-बड़ी बातें करेंगे

टिप्पणियां

हालांकि नवजोत सिंह सिद्दू ने सफाई भी दी. सिद्धू ने कहा कि वो सिर्फ़ गले मिले थे कोई राफेल डील नहीं की थी. सिद्धू ने कहा कि जब दो पंजाबी मिलते हैं तो ऐसे ही मिलते हैं. बाजवा के गले लगने को लेकर भारत में सिद्धू की काफ़ी आलोचना हुई थी. सिद्धू ने कहा था कि करतारपुर गलिायरा भारत और पाकिस्तान के बीच शांति को बढ़ावा देगा और 'शत्रुता' मिटाएगा. इससे क्रिकेट रिश्तों की बहाली समेत दोनों देशों के बीच अनंत सभावनाओं का निर्माण होगा. (इनपुट भाषा से)

Video : पुलवामा अटैक में यूपी के सर्वाधिक 12 जवान शहीद​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement