NDTV Khabar

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारतीय पोतों की सुरक्षा के लिए नौसेना ने तैनात किये युद्धपोत

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव और समुद्री सुरक्षा से संबंधित हालिया घटनाओं के बीच, नौसेना ने ओमान की खाड़ी और फारस की खाड़ी में अपने युद्धपोत तैनात किये हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव को देखते हुए भारतीय पोतों की सुरक्षा के लिए नौसेना ने तैनात किये युद्धपोत

प्रतिकात्मक चित्र

नई दिल्ली :

अमेरिका और ईरान के बीच बढ़ते तनाव और समुद्री सुरक्षा से संबंधित हालिया घटनाओं के बीच, नौसेना ने ओमान की खाड़ी और फारस की खाड़ी में अपने युद्धपोत तैनात किये हैं ताकि इस क्षेत्र में मौजूद और वहां से गुजरने वाले भारतीय पोतों की सुरक्षा सुनिश्चित हो. नौसेना ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. नौसेना ने कहा कि इसके अलावा, भारतीय नौसेना के विमान क्षेत्र में हवाई निगरानी रख रहे हैं. नौसेना ने कहा, ‘आईएनएस चेन्नई और आईएनएस सुनयना को समुद्री सुरक्षा अभियान के लिए ओमान की खाड़ी और फारस की खाड़ी में तैनात किया गया है. इसके अलावा, नौसेना के विमान क्षेत्र में हवाई निगरानी रख रहे हैं''. 

टिप्पणियां

राष्ट्रपति ट्रंप बोले, अमेरिकी ड्रोन को गिराकर ईरान ने ‘बड़ी गलती' की


आपको बता दें कि ईरान के सशस्त्र बल 'रिवोल्यूशनरी गार्ड' ने गुरुवार को कहा कि उसने हर्मुज जलसंधि के पास अपने हवाई क्षेत्र में एक अमेरिकी जासूसी विमान को मार गिराया. इसके बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने बृहस्पतिवार को कहा कि ईरान ने अमेरिका के ड्रोन को गिराकर ‘बड़ी गलती' की है. व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव सारा सैंडर्स ने कहा कि ट्रंप को बुधवार रात में दोबारा बृहस्पतिवार सुबह में इस घटना के बारे में जानकारी दी गई. उन्होंने कहा कि प्रशासन कैपिटोल हिल के नीति-निर्माताओं के साथ संपर्क में रहेगी. ट्रंप ने यह टिप्पणी ट्विटर पर सुबह में की. अमेरिका और ईरान के अधिकारी ने इस घटना पर अलग-अलग बयान दिए हैं. (इनपुट-भाषा)



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement