NCB पर फिर आरोप, अर्जुन रामपाल और रणवीर कपूर का नाम लेने के लिए प्रताड़ित किया

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस से जुड़े बॉलीवुड ड्रग्स सिंडिकेट केस में आरोपी क्षितिज प्रसाद का एनसीबी पर आरोप, डीनु मोरया, अर्जुन रामपाल और रणवीर कपूर का नाम लेने के लिए प्रताड़ित किया

NCB पर फिर आरोप, अर्जुन रामपाल और रणवीर कपूर का नाम लेने के लिए प्रताड़ित किया

क्षितिज प्रसाद (फाइल फोटो).

मुंबई:

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) ड्रग्स केस में गिरफ्तार आरोपी क्षितिज प्रसाद ने एक बार फिर जांच एजेंसी नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है. सत्र न्यायालय के विशेष जज के सामने दिए बयान में क्षितिज प्रसाद ने बताया कि एनसीबी अधिकारी बॉलीवुड अभिनेता डीनु मोरया, अर्जुन रामपाल और रणवीर कपूर का नाम लेने के लिए उसे मजबूर कर रहे हैं. जबकि वो इनमें से किसी को नहीं जानता.

क्षितिज को तीन अक्टूबर को जज के सामने पेश किया गया था जहां जज ने उसे छह अक्टूबर तक जेल हिरासत में भेज दिया है. सुनवाई के दौरान अदालत में एनसीबी की तरफ से मौजूद सरकारी वकील अतुल सरपांडे ने क्षितिज के आरोपों को गलत बताया.

गत 26 सितंबर को गिरफ़्तार किए गए क्षितिज प्रसाद ने 27 सितंबर को भी मजिस्ट्रेट के सामने एनसीबी पर उसे प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई पेशी में क्षितिज ने तब आरोप लगाया था कि NCB मुम्बई के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने उस पर करण जौहर, सोमेल मिश्रा, राखी , अपूर्वा , नीरज या राही के खिलाफ बयान देंने के लिए दबाव डाला था. क्षितिज के मुताबिक एनसीबी चाहता था कि वह अपने बयान में कहे कि ये लोग ड्रग्स लेते हैं.

क्षितिज के मुताबिक जब उसने झूठ बोलने से इनकार किया था तो समीर वानखेड़े ने उसे धमकाया कि तुम सहयोग नही कर रहे हो इसलिए तुम्हे सबक सिखाएंगे. ये कहकर समीर वानखेड़े ने अपनी कुर्सी के बगल में जमीन पर बैठाया और अपना जूता क्षितिज के चेहरे के पास रखकर कहा कि ये तुम्हारी औकात है.

Newsbeep

ड्रग्स केस : NCB ने क्षितिज प्रसाद के "शारीरिक रूप से गलत व्यवहार" करने के दावे को किया खारिज 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


क्षितिज प्रसाद उस धर्मा प्रोडक्शन की सिस्टर कंसर्न कंपनी से जुड़े रहे हैं जिसके मालिक करण जौहर हैं. क्षितिज ने मामले में खुद को फंसाने का आरोप लगाया है. बॉलीवुड ड्रग्स सिंडिकेट केस में अब तक कुल 20 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं.