NCP प्रमुख शरद पवार ने डीपी त्रिपाठी के निधन पर जताया शोक, बताया निजी क्षति

शरद पवार ने ट्वीट किया,''हमारे NCP महासचिव डीपी त्रिपाठी जी के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. वह राजनीति में परिश्रम और बुद्धिमत्ता का सही मिश्रण थे.

NCP प्रमुख शरद पवार ने डीपी त्रिपाठी के निधन पर जताया शोक, बताया निजी क्षति

पवार ने कहा कि डीपी त्रिपाठी एनसीपी के साथ उसकी शुरुआत से ही थे.

खास बातें

  • लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को हुआ डीपी त्रिपाठी का निधन
  • एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता थे डीपी त्रिपाठी
  • एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने जताया शोक
मुंबई:

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार और अन्य पार्टी नेताओं ने गुरुवार को अपने वरिष्ठ सहयोगी एवं राज्यसभा के पूर्व सदस्य डीपी त्रिपाठी के निधन पर शोक व्यक्त किया. डीपी त्रिपाठी का लंबी बीमारी के बाद गुरुवार को नई दिल्ली में निधन हो गया. पवार ने कहा कि त्रिपाठी एनसीपी के साथ उसकी शुरुआत से ही थे और उनका निधन उनके लिए निजी क्षति है. पवार ने ट्वीट किया, ''हमारे NCP महासचिव डीपी त्रिपाठी जी के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. वह राजनीति में परिश्रम और बुद्धिमत्ता का सही मिश्रण थे. एक दृढ़ आवाज जिन्होंने मेरी पार्टी के लिए एक प्रवक्ता और महासचिव के तौर पर हमेशा एक रुख अपनाया.''

यह भी पढ़ें: NCP के वरिष्ठ नेता डीपी त्रिपाठी का 67 साल की उम्र में हुआ निधन

उन्होंने कहा कि त्रिपाठी पार्टी की 1999 में स्थापना के बाद से ही इसके साथ थे. पवार ने कहा कि त्रिपाठी ने राष्ट्रीय स्तर पर ''बहुत महत्वपूर्ण'' भूमिका निभायी. एनसीपी प्रमुख ने कहा, ''उनका निधन मेरे लिए एक निजी क्षति है. उनकी आत्मा को शांति मिले''. महाराष्ट्र के उप मुख्यमंत्री अजित पवार ने ट्वीट करके त्रिपाठी के निधन पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने कहा, ''डीपी त्रिपाठी के दुखद निधन पर गहरा शोक व्यक्त करता हूं, वह एनसीपी के सम्मानित वरिष्ठ नेता और राकांपा के महासचिव थे. उनके परिवार के प्रति मेरी संवेदनाएं. उनकी आत्मा को शांति मिले.''
 

एनसीपी के राज्यसभा सदस्य प्रफुल्ल पटेल ने भी त्रिपाठी के निधन पर शोक व्यक्त किया और कहा कि उन्हें कभी भी भुलाया नहीं जा सकेगा. एनसीपी की लोकसभा सदस्य सुप्रिया सुले ने त्रिपाठी को राकांपा के सभी कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शक बताया. सुले ने ट्वीट किया, ''डीपी त्रिपाठी के निधन के बारे में जानकर दुख हुआ. वह एनसीपी के महासचिव और हम सभी के मार्गदर्शक थे. हमें उनके बहुमूल्य परामर्श और मार्गदर्शन की कमी महसूस होगी जो उन्होंने राकांपा की स्थापना के पहले दिन से हमें दिया.''
 


महाराष्ट्र के मंत्री छगन भुजबल ने कहा कि त्रिपाठी के निधन से ''एक ऐसा खालीपन उत्पन्न हो गया है, जिसे भरा नहीं जा सकता.'' भुजबल ने ट्वीट किया, ''एनसीपी ने अपने वरिष्ठ मार्गदर्शक को हमेशा के लिए खो दिया.'' एनसीपी के मुख्य प्रवक्ता एवं महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक ने भी त्रिपाठी के निधन पर शोक व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि राज्यसभा के पूर्व सदस्य ने पार्टी का आधार बढ़ाने में बहुमूल्य योगदान दिया. एनसीपी महासचिव एवं छात्र संघ के पूर्व नेता कैंसर से पीड़ित थे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)
 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com