NDTV Khabar

महाराष्ट्र में फिर फंसा पेंच? CM पोस्ट पर शिवसेना के दावे के बाद NCP ने कहा- अभी बहुत बात बाकी है

एक ओर शिवसेना के संजय राउत का कहना है कि Congress-NCP के साथ सहमति बन गई है और पांच साल शिवसेना का ही मुख्यमंत्री रहेगा.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
महाराष्ट्र में फिर फंसा पेंच? CM पोस्ट पर शिवसेना के दावे के बाद NCP ने कहा- अभी बहुत बात बाकी है

Maharashtra News : एनसीपी नेताओं ने कहा कि अभी कोई फैसला नहीं हुआ है (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. शिवसेना के दावे पर NCP नेताओं ने किया मना
  2. कहा- अभी बहुत बात होनी बाकी है
  3. संजय राउत ने कहा था सहमति बन गई है
नई दिल्ली:

एक ओर शिवसेना नेता संजय राउत  का कहना है कि Congress-NCP के साथ सहमति बन गई है और पांच साल शिवसेना का ही मुख्यमंत्री रहेगा. लेकिन एनसीपी के दो वरिष्ठ नेता छगन भुजबल और नवाब मलिक ने कहा है कि 5 साल सीएम पर कोई बात नहीं हुई है. छगन भुजबल ने कहा है कि अभी बहुत बात होनी बाकी है.  कुल मिलाकर अब इन दो बयानों से साफ जाहिर हो रहा है कि महाराष्ट्र में कांग्रेस-एनसीपी और शिवसेना की गठबंधन वाली सरकार बनने में अभी कोई पेंच हुए हैं. एक और एनसीपी नेता नवाब मलिक का कहना है कि मुख्यमंत्री को लेकर अभी कोई फ़ैसला नहीं, शाम की बैठक के बाद ही फ़ैसला हो पाएगा. अभी कोई भी किसी प्रकार की चर्चा नहीं हुई है. आज शाम जब तीनों दल बैठेंगे तो सभी बिन्दुओ पर चर्चा होगी और फैसला लिया जाएगा. निश्चित रुप से स्थिर सरकार बनेगी और 5 साल सरकार चलेगी.

अगर महाराष्ट्र में बनी Congress-NCP और शिवसेना की सरकार तो बुलेट ट्रेन परियोजना पर लग सकता है 'ब्रेक'


दूसरी मुंबई में शिवसेना विधायकों की बैठक खत्म हो गई है. मिल रही जानकारी के मुताबिक उद्धव ठाकरे ने अपने विधायकों से कहा है कि मुख्यमंत्री तो शिवसेना की बनेगा. वहीं विधायकों की मांग है कि उद्धव ही महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री बने.  बैठक में उद्धव के अलावा किसी और नाम की चर्चा नहीं हुई है.

क्या उद्धव ठाकरे बनने जा रहे हैं महाराष्ट्र के नए मुख्यमंत्री? अब तक की 8 बड़ी बातें

आपको बता दें कि आपको बता दें कि महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव मे बीजेपी को 105, शिवसेना को 56, एनसीपी को 54 और कांग्रेस को 44 सीटें मिली हैं. बीजेपी और शिवसेना ने मिलकर बहुमत का 145 का आंकड़ा पार कर लिया था. लेकिन शिवसेना ने 50-50 फॉर्मूले की मांग रख दी जिसके मुताबिक ढाई-ढाई साल सरकार चलाने का मॉडल था. शिवसेना का कहना है कि बीजेपी के साथ समझौता इसी फॉर्मूले पर हुआ था लेकिन बीजेपी का दावा है कि ऐसा कोई समझौता नहीं हुआ. इसी लेकर मतभेद इतना बढ़ा कि दोनों पार्टियों की 30 साल पुरानी दोस्ती टूट गई.

टिप्पणियां

मुंबई में आज होंगी शिवसेना-एनसीपी और कांग्रेस की बैठकें​



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement